MP : पढ़ लीजिए ये काम की खबर : इंदाैर में शव ले जाने का किराया फिक्स : अब किसी ने तय रेट से ज्यादा रुपए वसूले तो होगी सख्त कार्यवाही

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

इंदौर। शहर के किसी भी मुक्तिधाम तक शव ले जाने के मुंह मांगे रेट लेने वाली गैंग पर कलेक्टर ने पाबंदी लगा दी है। अब शहर में किसी भी मुक्तिधाम में कोरोना या सामान्य शव ले जाने का 400 रुपए फिक्स कर दिया गया है। वहीं कोविड बॉडी के लिए 600 रुपए चार्ज रहेगा। इंदौर से बाहर खंडवा, खरगोन के लिए 2200 रुपए तो इससे ज्यादा टेवेरा या बोलेरो से जाने पर 10 रुपए किलोमीटर लगेंगे। यदि अब किसी ने तय रेट से ज्यादा रुपए वसूल तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। जेल भी जाना पड़ सकता है।

यह रेट तय

शहर में एमवाय अस्पताल / मुर्दाघर से सामान्य व्यक्ति के शव को शव वाहन से कब्रिस्तान/ श्मशान ले जाने का किराया 400 रुपए।

कोविड संक्रमित व्यक्ति के शव को कब्रिस्तान / श्मशान ले जाने का किराया 600 रुपए निर्धारित।

नॉन कोविड शव को शव वाहन से इंदौर जिले के भीतर व नगर निगम सीमा से बाहर ले जाने पर सांवेर, क्षिप्रा, मांगलिया, हातोद एवं महू ले जाने का किराया 700 रुपए।

मानपुर, देपालपुर, चंद्रावतीगंज, चोरल का किराया 1100 रुपए।

गौतमपुरा का किराया 1200 रुपए।

नॉन कोविड शव को इंदौर जिले से बाहर खंडवा, खरगोन या बड़वानी जिलों में ले जाने के लिए किराया 2 हजार 200 रुपए।

लंबी दूरी पर जाने का किराया किलोमीटर से

अन्य दूरी पर जाने के लिए बोलेरो/टवेरा का शव वाहन/एंबुलेंस के रूप मे प्रयोग करने पर 10 रुपए प्रति किलोमीटर।

ईको मारुति का प्रयोग करने पर 9 रुपए प्रति किलोमीटर

मारुती वेन का प्रयोग करने पर 8 रुपए प्रति किलोमीटर

यदि किसी ने इससे ज्यादा रुपए वसूले तो उसके खिलाफ धारा-188, 107, 116 एवं 151 के तहत प्रकरण दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया जाएगा।

रेट ज्यादा वसूलने की शिकायत के बाद कलेक्टर ने ली थी बैठक

शव ले जाने की कालाबाजारी को रोकने के लिए कलेक्टर मनीष सिंह ने रेसीडेंसी कोठी पर एंबुलेंस चालकों, एमवाय अधीक्षक और पुलिस की बैठक ली थी। कलेक्टर बोले - कालाबाजारी के मुद्दे पर सभी जनप्रतिनिधियों को पीड़ा हुई थी। उन्होंने नकेल कसने के लिए कहा था। इसलिए बैठक में कलेक्टर ने पहले सभी एंबुलेंस वालों से कोरोना शव अंतिम संस्कार के लिए छोड़ने के रेट पूछे। सभी ने अलग-अलग बताए।

आखिर में कलेक्टर ने तय कर दिया कि अब सिर्फ 400 रुपए लेना होंगे, शव चाहे कोविड का हो या सामान्य। यदि कोई कोविड शव को कवर करवाकर मुक्तिधाम तक शिफ्ट करवाता है तो उसके 200 रुपए और ले सकते हैं। इससे ज्यादा लेने की शिकायत आई तो रासुका लगा देंगे।

Powered by Blogger.