REWA : इन टोल बूथ पर नियम कानून की उड़ रहीं धज्जियाँ ,सिर्फ पैसा वसूलने का बना लक्ष्य : ओवर लोड को दिया जा रहा बढ़ावा

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

      

रीवा। रीवा से यूपी को जोड़ने वाले नेशनल हाइवे में रीवा से हर्रो टोल वैरियर के 90 किलो मीटर की दूरी में 4 टोल वैरियर लगाये गए हैं। इन टोल बूथ पर नियम कानून की धज्जियाँ उडाते हुए मात्र पैसा वसूलने का लक्ष्‌य बना लिया गया हैं। जिसके कारण ओवर लोड वाहनों को बढ़ावा मिल रहा है। रीवा टोल नाका, जोगिनहाई टोल नाका, झिरिया सोहागी टोल नाका एवं हर्रो टोल नाका में सर्व प्रथम यह प्रचारित किया जाता हैं कि यह अमुक बड़े नेता का बैरियर है जहाँ किसी भी नियम कानून के नुमाइंदों की कुछ नही चलती।

यह हैं नियमः टोल बैरियर पर लोड माल के प्रतिशत के आधार पर ही अधिभार लेने का नियम हैं। जिसके तहत 20 प्रतिशत ओवर लोड में 2 गुना, 20से 40 प्रतिशत ओवर लोड में 4 गुना, 40 से 60 प्रतिशत ओवर लोड में 6 गुना, 60 से 80 प्रतिशत ओवर लोड में 8 गुना एवं 80 प्रतिशत से अधिक ओवर लोड में 10 गुना अधिक शुल्क लेने के साथ राजमार्ग का उपयोग करने के लिए अतिरिक्त लोड को खाली करना होगा। किन्तु इन टोल वसूली केन्द्रों में ओवर लोड की प्रत्येक स्थिति में 10 गुना अधिक शुल्क वसूला जा रहा है। अतिरिक्त ओवर लोड माल को खाली नही कराया जा रहा हैं। ऐसी स्थिति में माल वाहकों को10 गुना अधिक अधिक अधिभार देना पड़ रहा हैं और ज्यादा से ज्यादा ओवर लोड माल लादने के लिए वाहन चालक वाध्य हो रहे है। जिससे ओवर लोड को अधिक बढ़ावा मिल रहा है। टौल वैरियर भी अधिक पैसा वसूलने के चक्कर में ओवर लोड परिवहन को रोकना नही चाहता जिससे ओवर लोड परिवहन का अपराध बढ़ता ही जा रहा है।

सक्रिय हैं डंडा धारीः टोल वैरियर पर लाठी डन्डे से लैश लोगों के द्वारा वाहन चालकों को भयभीत किया जाता हैं किन्तु बड़े नेता के टोल होने के नाते पुलिस में उनकी सुनवाई ही नही होती। उक्त मार्ग पर 90 किलोमीटर की दूरी पर 4 टोल बैरियर की उपस्थिति ही यह बता रही है कि यहाँ कानून का कितना पालन किया जा रहा हैं। टोल कर्मचारियों के हाथ में डण्डा कभी भी देखा जा सकता है,जिससे यह स्पष्ट हो जाता है कि यहाँ अराजकता किसके द्वारा की जा रही है। त्योंथर तहसील के गाँवों से अनेक ऐसे कर्मचारी हैं जिनका आवागमन कार्यालयीन कार्यो से त्योंथर के लिए होता है। उनकी दूरी भी टोल बैरियर से 20 किमी के भीतर हैं उन्हें भी टोल वैरियर पर परेशानी उठानी पडती है।

वर्जन

टोल प्लाजा क्षेत्र के 20 किमी की परिधि में आने वाले लोगों के आवागमन सुविधा के लिए उनसे आवेदन पत्र मंगाया जा रहा है। आवेदन पत्र पर टोल कर्मचारियों द्वारा परीक्षण करके उनका पास बनाया जाएगा ।

धीरेन्द्र शुक्ला, टोल के प्रभारी

Powered by Blogger.