DAVV INDORE : नया शिक्षण सत्र अक्टूबर में शुरू करने के संकेत, UG- PG में एडमिशन प्रक्रिया जून में हो सकती है शुरू

इंदौर। कॉलेजों में ऑनलाइन एडमिशन की प्रक्रिया इस साल भी दो माह देरी से जून-जुलाई में शुरू होने की संभावना है और शिक्षण सत्र अक्टूबर में शुरू करने के संकेत मिले हैं। यूजी में प्रवेश प्रक्रिया के साथ पीजी में भी प्रक्रिया लेट ही होगी। हर साल प्रवेश प्रक्रिया मई के तीसरे सप्ताह में शुरू हो जाती है। अप्रैल में यूनिवर्सिटी एफिलिएशन की प्रक्रिया शुरू कर देती है, लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण से हालात बेकाबू हैं और तीन सप्ताह से यूनिवर्सिटी बंद है। आगे भी 30 मई तक यूनिवर्सिटी बंद रहने की संभावना है। अगर जून में हालात सुधरे तो यूनिवर्सिटी की एफिलिएशन की प्रक्रिया आरंभ हो जाएगी। हालात को देखते हुए ऐसा लगाता है कि दो महीने तक किसी भी प्रकार के ऑफलाइन एग्जाम का कोई को चांस नहीं है।

एक अप्रैल से होने थे एग्जाम शुरू

डीएवीवी के बीए, बीएससी और बीकॉम सहित कुछ अन्य कोर्स के पेपर एक अप्रैल से शुरू होने वाले थे। वहीं, अन्य दोनों साल वालों की ओपन बुक सिस्टम से पेपर लिए जाने थे, लेकिन कोरोना के कारण पूरा सत्र ही गड़बड़ाता हुआ नजर आ रहा है। इस बार सबसे ज्यादा छात्र बीए क्लास में हैं। वैसे बीए में तो 31 हजार छात्र हैं ही। परंपरागत तीनों कोर्स की बात की जाए तो छात्रों की संख्या 67 हजार के करीब है।

अक्टूबर तक शुरू हो सकता है नया सत्र

इधर, ये भी संभावना है कि इस बार नया शिक्षण सत्र करीब 3 माह देरी से 1 अक्टूबर से शुरू हो सकता है, क्योंकि प्रवेश प्रक्रिया ही करीब दो माह तक चलेगी। उच्च शिक्षा विभाग का कहना है आने वाले दिनों में जैसे ही हालात सुधरेंगे और एमपी बोर्ड-सीबीएसई 12वीं की परीक्षा और रिजल्ट की स्थिति साफ होगी, तभी प्रवेश से जुड़ी स्थिति भी साफ होगी।

ऐसा है छात्रों का गणित

बीए, बीकॉम और बीएससी प्रथम वर्ष में छात्रों की संख्या 67 हजार के करीब।

बीए, बीकॉम और बीएससी द्वितीय वर्ष में छात्रों की संख्या 72 हजार के करीब

बीए, बीकॉम और बीएससी फाइन ईयर छात्रों की संख्या 57 हजार के करीब।

Powered by Blogger.