MP : कोरोना के बढ़ते लगातार संक्रमण की चैन तोडऩे अब 12 से 22 तक टोटल लॉकडाउन

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

नरसिंहपुर. कोरोना संक्रमण की चैन तोडऩे के लिए अब जिले में 1२ अप्रैल से 22 अप्रैल तक टोटल लॉकडाउन रहेगा। ये निर्णय वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिला आपदा प्रबंधन समूह की सीएम के साथ हुई बैठक के बाद लिया गया। इस तरह मौजूदा दो दिन के लॉकडाउन के बाद निरंतर फिर १२ से २२ अप्रेल तक का लॉकडाउन शुरू हो जाएगा।

शनिवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जिला आपदा प्रबंधन समूह के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कोरोना को लेकर बने हालातों पर चर्चा की थी। इसमें मुख्यमंत्री ने संक्रमित मरीजों की संख्या को देखते हुए टीकाकरण में तेजी लाने के निर्देश दिए। रेमेडिसीवर इंजेक्शन आवश्यकतानुसार उपलब्धत कराने सहित इंजेक्शन की कालाबाजारी पर रोक लगाने हेतु सुझाव दिए गए। साथ ही अस्पतालों में और कोविड बेड बढ़ाने की मांग रखी गई। जिले से मरीज बाहर न जाये इसके लिए बेहतर व्यवस्था करने और प्राइवेट अस्पतालों को भी कोविड अस्पताल मे परिवर्तित करने का निर्णय लिया। बैठक में सांसद कैलाश सोनी, उदय प्रताप सिंह, विधायक , तेंदूखेड़ा विधायक संजय शर्मा, कलेक्टर वेद प्रकाश, एसपी विपुल श्रीवास्तव आदि अधिकारी प्रमुख रूप से मौजूद थे।

ढाई दिन के लॉक डाउन में पुलिस प्रशासन ने बरती सख्ती

शुक्रवार की शाम से सोमवार सुबह तक के लॉक डाउन में पुलिस प्रशासन ने सख्ती बरती और कड़ाई से इसका पालन कराया। हर जगह पुलिस तैनात रही। बाजार सूने रहे और लोग घरों में कैद रहे। सड़कों पर निकले लोगों से पुलिस ने पूछताछ की और संतुष्ट होने के बाद ही जाने दिया।

डोभी. शनिवार को डोभी में भी बाजार में सन्नाटा पसरा रहा। दुकानें बंद रहीं तो वहीं प्रशासन व पुलिस की सख्ती भी देखने को मिली। बाजार बंद रहने से सड़कों पर भी चहल पहल काफी कम रही। गल्ला, सब्जी व अन्य सभी प्रतिष्ठानों पर ताला लटका रहा। मेडिकल की दुकानें खुली रहीं। प्रशासनिक अमला व पुलिस टीम लगातार भ्रमण करते रहे।

तेंदूखेड़ा. शुक्रवार की शाम 6 बजे से सोमवार की सुबह 6 बजे तक के लॉक डाउन से तेदूखेंड़ा क्षेत्र में सन्नाटा पसरा रहा। लोग जहां अपनी सुरक्षा और दूसरों की सुरक्षा के लिए घरों में कैद हो गये । वहीं पुलिस प्रशासन की संयुक्त टीमें भी पूरी मुस्तैद रहीं। गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों को अर्थदंड से दंडित भी किया गया।

Powered by Blogger.