REWA : प्रेमी संग घर बसाना चाहती थी महिला : बड़ी बेटी ने माँ की हक़ीक़त लाई सामने : 4 साल की फूल सी बच्ची को दीवार पर पटक कर दी हत्या


रायपुर कर्चुलियान थाना क्षेत्र के कोष्टा गांव में 4 साल की बच्ची की हत्या उसकी ही मां अंजू मिश्रा (24) पति राहुल मिश्रा ने प्रेमी दीपक सिंह ठाकुर के साथ मिलकर कर दी। महिला अपने प्रेमी के साथ घर बसाना चाहती थी, लेकिन दोनों बेटियां रोड़ा बन रही थीं। दोनों ने उन्हें रास्ते से हटाने का षड्यंत्र रचा। पुलिस ने आरोपी महिला और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है।

कोरोना कर्फ्यू में रिश्तेदार के यहां कार्यक्रम में बाइक से जा रहे मां-बेटे की हत्या; हत्या का प्रकरण दर्ज : जांच जारी

रामपुर कर्चुलियान थाना प्रभारी मृगेन्द्र सिंह ने बताया, कोष्टा गांव निवासी करुणा पाण्डेय की लड़की अंजू पांडे की शादी 6 साल पहले पूर्व भलुहा निवासी राहुल मिश्रा के साथ हुआ था। उसे दो लड़कियां तनू मिश्रा (5) उर्फ साइना व तन्वी मिश्रा (4) थी। अंजू का पति राहुल मिश्रा हत्या के केस में जेल में है। इसके बाद अंजू मायके कोष्टा चली गई। यहां वह मां और भाई के साथ रहने लगी। कुछ दिन बाद परिवार अवैध मादक पदार्थों की तस्करी में लिप्त हो गया। नतीजन, अंजू, मां करुणा और भाई सूरज एनडीपीएस एक्ट के तहत जेल में बंद हो गए। अंजू को बेटियों की परवरिश की दलील पर कोर्ट ने जमानत दे दी। ऐसे में वह कोष्टा गांव में आकर पुन: रहने लगी।

आदतन अपराधी से बन गए अवैध संबंध

पुलिस का कहना है, अंजू के बेलवा पैकान निवासी दीपक सिंह (20) से अवैध संबंध बन गए। अक्सर दीपक सिंह का कोष्टा आना-जाना रहता था। दोनों पति-पत्नी के रूप मेंं रहना चाहते थे, लेकिन दोनों बेटियां रुकावट बन रहीं थी। दोनों ही अपने प्यार के बीच बेटियों को स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं थे। ऐसे में दोनों ने उन्हें रास्ते से हटाने की योजना बनाई।

दोनों बच्चियों को बुरी तरह मारा

आरोपियों ने 25 अप्रैल को डंडे से दोनों बच्चियों की जमकर पिटाई की। वहीं, आरोपी दीपक सिंह ने तन्वी को दीवार से दे मारा। इस कारण तन्वी घायल हो गई। आनन-फानन में 25 अप्रैल को आरोपी उसे रीवा अस्पताल लेकर पहुंचे। यहां दोनों बच्ची को गलत नाम से भर्ती कराया। अस्पताल में दूसरे दिन तन्वी की मौत हो गई। इधर, घर में मौजूद बड़ी बेटी ने अपने चाचा को सारी कहानी सुना दी। उन्होंने तुरंत मामले की सूचना पुलिस को दी।

पुलिस ने दर्ज किया हत्या का केस

पुलिस ने बड़ी बेटी तनु व चाचा शुभम पांडे की रिपोर्ट पर आरोपी अंजू मिश्रा और दीपक सिंह के खिलाफ धारा 302, 307, 201, 34 के तहत केस दर्ज कर लिया। पूछताछ में आरोपियों ने जुर्म कबूल कर लिया। पुलिस ने वारदात में प्रयुक्त बांस का डंडा भी बरामद कर लिया। 28 अप्रैल को दोनों को कोर्ट में पेश कर वहां से जेल भेज दिया गया।

दीपक पर 11 केस, अंजू पर भी पिता की हत्या का केस

पुलिस ने बताया, दीपक ठाकुर पर मारपीट, चोरी, अवैध वसूली के 11 केस दर्ज हैं। वह जिले के कई थानों का निगरानीशुदा बदमाश है। वहीं, अंजू मिश्रा पूर्व में भी पिता की हत्या के आरोप में जेल जा चुकी है। वह जमानत पर है। इसके अलावा उस पर एनडीपीएस एक्ट और हत्या के दो केस दर्ज हैं।

Powered by Blogger.