CG NEWS : RTE में भी कोरोना का असर : कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए RTE के आवेदन के लिए आगामी आदेश तक बढ़ा दी गई तारीख


रायपुर। स्कूल शिक्षा विभाग ने कोरोना के मद्देनजर शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आरटीई) के तहत निजी स्कूलों में प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया आगामी आदेश तक बढ़ा दी है। शिक्षा विभाग ने पहले इसके लिए 22 अप्रैल तक आवेदन मंगाया था। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए फिलहाल आरटीई के आवेदन के लिए आगामी आदेश तक तारीख बढ़ा दी गई है।

अभी लगातार ऑनलाइन अभिभावकों से आवेदन लिए जाएंगे। आरटीई के तहत दाखिले के लिए विभाग को अभी तक 41 हजार 575 आवेदन मिले हैं। जबिक 29 जिलों में 6632 निजी स्कूलों में 83 हजार 874 सीटें आरक्षित हैं। सीटों के मुकाबले विभाग को आधे ही आवेदन मिले हैं। रायपुर के जिला शिक्षा अधिकारी एएन बंजारा ने बताया कि कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए सत्र 2021-22 के लिए छात्र पंजीयन आगामी आदेश तक प्रारंभ रहेगी।

इन बच्चों के लिए सीट रहती है आरक्षित

आरटीई 12(1)(सी) के अंतर्गत सभी गैर-अनुदान प्राप्त और गैर-अल्पसंख्यक प्राइवेट स्कूलों के प्रारंभिक कक्षाओं में 25% सीट कमजोर और असुविधाग्रस्त परिवार के बच्चों के लिए आरक्षित होता है। इस अधिनियम के तहत तीन से साढ़े छह वर्ष तक के बच्चे किसी भी प्राइवेट स्कूल के प्रारंभिक कक्षा मे प्रवेश ले सकते हैं। इस योजना से प्रवेशित छात्र कक्षा 12वी तक नि:शुल्क चयनित स्कूल में अध्ययन कर सकते हैं।

तीन लाख से ज्यादा छात्र ले रहे हैं लाभ

अब तक छत्तीसगढ़ मे लगभग तीन लाख एक हजार 317 छात्र इस योजना का लाभ ले रहे हैं क्योंकि इस योजना का लाभ जरूरतमंद और पात्र छात्रों को नर्सरी क्लास - बारहवीं तक नि:शुल्क शिक्षा दिया जाता है। इसका मुख्य उदेश्य समाज मे सभी वर्ग के लोगो के मध्य सामाजिक समावेशन अर्थात सामाजिक समानता लाना, और सभी समूहों को मूल्यवान और महत्वपूर्ण महसूस करना है, ताकि विभिन्न प्रकार से किए जाने वाले भेदभव को हटाया जा सके।

वर्जन

कोरोना के प्रकोप के कारण फिलहाल शेड्यूल को आगामी आदेश तक बढ़ाया गया है। पात्र सभी हितग्राहियों को आरटीई का लाभ मिलेगा।

- एएन बंजारा, डीईओ, रायपुर

Powered by Blogger.