MP : एक और महंगाई का झटका लगा : अब जबलपुर से कटनी का किराया 125 रुपए देना होगा, लग्जरी बस में सफर करना और महंगा

कोरोना संक्रमण के बीच आम लोगों की जिंदगी में एक और महंगाई का झटका लगा है। ये चपत बस सफर में लगेगा। प्रदेश सरकार ने बसों के किराए में 25 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की है। अब जबलपुर से कटनी और मंडला जाने के लिए 25 रुपए अधिक देने पड़ेंगे। लग्जरी बसों के किराए में सामान्य की तुलना में 25 प्रतिशत से लेकर 75 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की गई है।

प्राइवेट बस ऑपरेटरों के दबाव में सरकार ने किराया बढ़ाने का आश्वासन दिया था। अब कोरोना संक्रमण के बीच किराए में बढ़ोत्तरी का आदेश जारी हुआ है। परिवहन विभाग द्वारा जारी किए गए नोटिफिकेशन के मुताबिक बस का न्यूतनम किराया 7 रुपए तय किया गया है। इसके बाद प्रति किमी 1 रुपए 25 पैसे प्रति की दर निर्धारित की है। इसके अलावा लग्जरी बसों के किराए में 25 से 75ऽ तक की वृद्धि की गई है। रात्रि में यात्रियों को 10 प्रतिशत और किराया अधिक देना पड़ेगा।

तीन साल बाद बढ़ाया किराया

राज्य किराया निर्धारण समिति ने 28 मई 2018 को बस का किराया प्रति किमी 1 रुपए तय किया था। बस ऑपरेटर बसों के किराए में 40 से 50 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की मांग कर रहे थे। जारी नोटिफिकेशन में कहा गया है कि लग्जरी बसों जैसे डीलक्स (नॉन एसी) स्लीपर, डीलक्स (एसी) और सुपर लग्जरी कोच के किराए में रात्रि प्रभार यात्रियों से नहीं वसूला जाएगा। रात्रि प्रभार सिर्फ सामान्य बस ऑपरेटर ही ले सकेंगे।

इस तरह लगेगी सफर के दौरान चपत

कहां से कहां तक किमी    नया किराया

जबलपुर-कटनी          100         125

जबलपुर-मंडला          100   125

जबलपुर-दमोह          100   125

जबलपुर-सिवनी  145        190

जबलपुर-डिंडोरी ​​​​​​​ 145        190

जबलपुर-बालाघाट ​​​​​​​ 235        295

जबलपुर-सागर        160        200

जबलपुर-छिंदवाड़ा ​​​​​​​   216         270

जबलपुर-अमरकंटक ​​​​​​​ 223       280

बस ऑपरेटरों का दावा मांग से कम बढ़ा किराया

जबलपुर बस ऑपरेटर एसोसिएशन के नसीम बेग के मुताबिक हम पिछले एक साल से किराया बढ़ाने की मांग कर रहे थे। पिछले साल लॉकडाउन के कारण बसों का संचालन पूरी तरह से बंद रहा। मेंटीनेंस से लेकर डीजल की कीमतों में बढ़ोत्तरी ने बस मालिकों की कम तोड़ दी है। कोरोना के चलते लोग सफर से बच रहे हैं। ऐसे में लागत निकालना भी मुश्किल हो रहा था। वहीं आम लोगों की शिकायत है कि रेलवे पहले ही किराया बढ़ा चुका है। अब बसों का सफर भी महंगा होने से उनकी हालत और पस्त हो जाएगी। खासकर रोज सफर करने वालों को तगड़ा झटका लगा है।

लग्जरी बसों में इस तरह सामान्य की तुलना में अधिक किराया लगेगा

सामान्य बस में रात्रि सेवा- 10%

डीलक्स बस (NON - AC)- 25%

स्लीपर कोच- 40%

डीलक्स बस (AC) - 50%

सुपर लग्जरी कोच (AC) 75%

Powered by Blogger.