MP : सतना के BJP विधायक जुगल किशोर के निधन की उडी अफवाह, भोपाल के बंसल अस्पताल में भर्ती, हालत स्थिर

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

सतना की रैगांव विधानसभा से पांचवीं बार विधायक व भाजपा के पूर्व मंत्री जुगल किशोर बागरी की तबियत कोरोना संक्रमित होने के बाद गंभीर है। उनको गुरुवार रात बिरला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लंग्स में 30 प्रतिशत संक्रमण हो गया है। शुक्रवार सुबह करीब 11 बजे राज्य सरकार से मिले निर्देशों के बाद बंसल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। प्रशासन की ओर से विधायक को रास्ते में रुकावट न हो, ऐसे में तहसीलदार बीके मिश्रा को भोपाल अलग वाहन से भेजा गया।

बता दें, भाजपा विधायक जुगल किशोर को एम्बुलेंस से भोपाल ले जाने से पहले सांसद गणेश सिंह, कलेक्टर अजय कटेसरिया, एसपी धर्मवीर​ सिंह यादव ने बिरला अस्पताल के डायरेक्टर डॉ. संजय महेश्वरी से उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। इसके​ बाद, सरकार से मिले दिशा निर्देश के आधार पर सतना, मैहर, कटनी, दमोह के रास्ते भोपाल भेजा गया है।

पांच दिन से होम आइसोलेशन में थे

बागरी के बड़े पुत्र पुष्पराज बागरी ने बताया, पिताजी को एक सप्ताह पहले हल्का बुखार आया था। हालांकि वो बुखार नहीं, बल्कि लगातार क्षेत्र में दौरा करने की थकावट थी। फिर भी कोरोना संबंधित जांच कराने शहर के बिरला हॉस्पिटल गया था। यहां बीते शनिवार को वे एंटीजन की जांच में पॉजिटिव आए।

इसके बाद सीटी स्कैन कराया गया, तो नाॅर्मल था। आरटीपीसीआर जांच के लिए रीवा सैंपल भेजा गया है। जांच रिपोर्ट सोमवार को तो वे पॉजिटिव पाए गए। ऐसे में विधायक खुद को पेप्टेक सिटी स्थित घर में होम आइसोलेशन में चले गए। गुरुवार रात फेंफड़ों में दिक्कत समझ में आई, तो बिरला अस्पताल में दाखिल कराया।

सोशल ​मीडिया में फैली निधन की अफवाह

सतना कलेक्टर अजय कटेसरिया ने बताया कि जुगल किशोर बागरी विधायक रैगांव की मेडिकल स्थिति स्थिर है। वे मेडिकल टीम के साथ विधायक भोपाल पहुंच रहे हैं। कुछ सोशल मीडिया ग्रुप्स पर उनके संबंध में गलत/अनर्गल खबरें फैलाई जा रही है। ऐसी खबरें चलाने वालों को चेतावनी दी जाती है। अब भ्रामक जानकारी का प्रचार करने पर कार्रवाई की जाएगी।

दावा है, जैसे ही रैगांव विधायक जुगल किशोर बागरी की हालत गंभीर की चर्चाएं सोशल मीडिया में चलीं तो कुछ ग्रुप में इनके निधन की सूचनाएं प्रसारित होने लगीं। विधायक के पुत्र पुष्पराज सिंह बागरी ने कहा कि सोशल मीडिया में चल रही निधन की खबर अफवाह है। उन्होंने मामले में पुलिस अधीक्षक धर्मवीर सिंह से मामला दर्ज कर कार्रवाई करने की मांग की है।

एक नजर में रैगांव विधायक

बता दें कि जुगुल किशोर बागरी पांचवीं बार भाजपा से विधायक बने हैं। वे 1993 में पहली, 1998 में दूसरी, 2003 में तीसरी, 2008 में लगातार चौथी बार विधायक बनकर इतिहास रचा था। हालांकि 2013 में बढ़ती उम्र को देखते हुए पार्टी ने उनकी जगह बड़े बेटे पुष्पराज बागरी को टिकट दिया था, लेकिन बसपा की उषा चौधरी से पुष्पराज हार गए थे। इसके बाद एक बार फिर बब्बा पर ही पार्टी ने भरोसा किया तो 2018 में पांचवी बार विधायक बने। वे 2003 में उमा भारती की सरकार में कैविनेट मंत्री थे, लेकिन एक लोकायुक्त के प्रकरण के कारण मंत्री पद गवांना पड़ा था।

Powered by Blogger.