MP : संकट बड़ा है, कोरोना की दूसरी लहर में स्वास्थ्य व्यवस्थाएं गड़बड़ा गई हैं, लेकिन निराश न हाें, कोरोना नियंत्रण में आएगा


ग्वालियर। काेराेना की दूसरी लहर में स्वास्थ्य व्यवस्थाएं गड़बड़ा गई हैं, लेकिन हताश हाेने की जरूरत नहीं है। संकट बड़ा है, बस संयम से हम मिलकर चलेंगे तो जल्द जीत भी जाएंगे। कोरोना संक्रमण इस बार प्रभावी रूप से आया है, जिसके लिए हम ऑक्सीजन, बेड, रेमडेसिविर को लेकर लगातार व्यवस्थाएं बेहतर कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण से अपनी जान गंवाने वालों के लिए गहरा दुख व्यक्त करता हूं। सोमवार को ग्वालियर के कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने कोरोना नियंत्रण को लेकर शहर की स्थितियों को सामने रखते हुए यह बात मीडिया के सामने कही। उन्होंने यह भी आश्वस्त किया कि कुछ दिन की बात है, कोरोना नियंत्रण में आएगा।

छोटे कोविड अस्पताल होंगे डी-नोटिफाईः छोटे कोविड अस्पतालों को डी-नोटिफाई किया जाएगा, क्योंकि इनकी संख्या 100 के करीब हो गई है। छोटे अस्पतालों में कोविड के सीरियस मरीज नहीं भर्ती किए जाएंगे, क्योंकि आइसीयू बेड, ऑक्सीजन की कमी जैसी किल्लत होने पर पैनिक फैलता है और सभी अस्पतालों की छवि खराब होती है। ऐसे अस्पतालों को डी-नोटिफाई किया जा रहा है। सीरियस केस बड़े अस्तपालों में रेफर होंगे।

तीन डिस्पेंसरी और कोविड सैंपल की 15 वैन चलेंगीः कलेक्टर ने बताया कि कोविड में लोगों के घरों या सार्वजनिक जगहों पर कहीं कोई बीमार दिखेगा तो वैन में स्टाफ उनका सैंपल लेगा। इसके बाद उन्हें आइसोलेट स्थिति के आधार पर कराया जाएगा। जल्द 15 वैन ऐसी चलाई जा रही हैं। वहीं तीन डिस्पेंसरी और चालू की जा रही हैं, जिनकी अधिकृत सूचना आज जारी हाे सकती है।

ऑक्सीजन मैनेजमेंट: एसडीएम सहित 30 तैनातः कलेक्टर ने ऑक्सीजन मैनेजमेंट के लिए एसडीएम भितरवार अश्विनी कुमार रावत मोबाइल नंबर 7898602754 व नायब तहसीलदार ज्योति जाटव 9685856952 को तैनात किया है। ऑक्सीजन मैनेजमेंट के लिए इस दल में 30 कर्मचारियों को तैनात किया गया है। एसडीएम रावत मोतीमहल के कमांड सेंटर में उपस्थिति रहकर व्यवस्था संभालेंगे

बेड मैनेजमेंट: एसडीएम सहित 30 तैनातः कलेक्टर ने शासकीय और निजी अस्पतालों में बेड मैनेजमेंट के लिए एसडीएम डबरा प्रदीप शर्मा मोबाइल नंबर 9425129303 और तहसीलदार शिवानी पांडेय 9752006778 को तैनात किया है। एसडीएम और तहसीलदार के अधीनस्थ 30 कर्मचारियों के साथ चरणबद्ध 24 घंटे कंट्रोल कमांड सेंटर में उपस्थित रहकर बेड उपलब्धता सुनिश्चित करेंगे। वहीं हर अस्पताल पर पहले से ही एक प्रशासनिक प्रतिनिधि तैनात किया गया है

रेमडेसिविर मैनेजमेंट: तीन अफसर और 4 कर्मचारी तैनातः रेमडेसिविर के लिए एक बार फिर नई व्यवस्था बनाई गई है। इसके लिए नायब तहसीलदार हस्तिनापुर वंदना यादव मोबाइल नंबर 8965026512, ड्रग इंस्पेक्टर दिलीप अग्रवाल 9993 09356 और चिकित्सा अधिकारी डॉ नागेंद्र ऋषिश्वर 9425129294 के साथ चार कर्मचारी और लगाए गए हैं। यह इंजेक्शन की उपलब्धता, कोविड अस्पताल से डिमांड के अनुसार उपलब्धता की व्यवस्थाएं देखेंगे।

आमजन-जनप्रतिनिधि की शिकायतों के लिए अफसर लगाएः आमजनों से प्राप्त शिकायतों के निराकरण के लिए नायब तहसीलदार पिछोर बृजमोहन आर्य मोबाइल 8959979693 व नायब तहसीलदार आंतरी ज्योति जाटव मोबा. 9685856952 के साथ 12 कर्मचारियों को तैनात किया गया है। शिकायतों के निराकरण के लिए यह दल कंट्रोल कमांड सेंटर में उपस्थित रहकर शकायतों का निराकरण करेंगे। इसी प्रकार जनप्रतिनिधियों से प्राप्त शिकायतों के निराकरण के लिए अपर तहसीलदार डबरा प्रतिज्ञा शर्मा मोबाइल 9977724713 के साथ छह लोगों को तैनात किया गया है। यह दल भी जनप्रतिनिधियों से कोविड के संबंध में प्राप्त शिकायतों का निराकरण करेंगे।

कलेक्टर को आने वाली शिकायतेंः कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने अपने कार्यालय अथवा कलेक्टर को प्राप्त शिकायतों के निराकरण के लिए अपर तहसीलदार डबरा सीताराम वर्मा मोबाइल 9425797351 एवं नायब तहसीलदार उटीला पूजा मावई मोबाइल 9074887375 के साथ दो कर्मचारियों को तैनात किया है। यह कर्मचारी प्राप्त शिकायतों का समय सीमा में निराकरण कराएंगे।

Powered by Blogger.