MP : लगुन कार्यक्रम से घर लौट रहे करीब दो दर्जन लोग हुए सड़क हादसे का शिकार; ड्राइवर को लगा नींद का झोंका, पलट गई ट्रैक्टर ट्राली, बालक और युवक की मौत


जबलपुर। पनागर के एक गांव में विवाह समारोह से संबंधित टीका और लगुन कार्यक्रम से घर लौट रहे कुंडम क्षेत्र के करीब दो दर्जन लोग सड़क हादसे का शिकार हो गए। इनमें 13 साल के बालक संजू मरावी और 26 साल के आम सिंह धुर्वे की मौत हो गई। शुक्रवार सुबह करीब छह बजे हादसे की सूचना मिलते ही कुंडम थाना प्रभारी प्रताप सिंह मरकाम पुलिस बल सहित मौके पर पहुँचे और घायलों को कुंडम स्थित शासकीय अस्पताल ले जाया गया।

हादसे की वजह ट्रैक्टर चालक का नींद के झोंके में आना बताया जा रहा है। यह भी आशंका जताई जा रही है कि ट्रैक्टर की तेज रफ्तार और चालक का शराब के नशे में होना भी हादसे का कारण बन सकती है। हालांकि हादसे के स्पष्ट कारणों का पता नहीं चल पाया है। घायलों में ज्यादातर एक परिवार के सदस्य हैं, जो मछली कछार गांव कुंडम के हैं। हादसे को अंजाम देकर आरोपी चालक ट्रैक्टर ट्राली और घायलों को मौके पर छोड़कर भाग गया था जिसकी तलाश की जा रही है।

थाना प्रभारी मरकाम ने बताया कि कुंडम में घुघरा के समीप शुक्रवार सुबह हादसे की सूचना पर वे बल सहित मौके पर पहुँचे। तमाम लोग ट्रैक्टर ट्राली में दबे थे। जिन्हें किसी तरह बाहर निकाला जा सका। तमाम घायलों को सरकारी अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया गया। घायलों से पूछताछ में पता चला कि मछली कछार गांव से लगुन लेकर वो पनागर गए थे। गुरुवार रात पनागर में लगुन का कार्यक्रम संपन्न होने के पश्चात शुक्रवार सुबह सभी लोग कुंडम लौट रहे थे। घुघरा के समीप ट्रैक्टर ट्राली अनियंत्रित होकर पलट गई। थाना प्रभारी ने बताया कि हादसे में घायल दो लोगों की मौत हो गई तथा करीब दो दर्जन लोगों को चोटे आई हैं।

Powered by Blogger.