हनुमान जयंती पर 27 अप्रैल को इस साल का पहला सुपर पिंक मून आएगा नजर



होशंगाबाद। 27 अप्रैल मंगलवार को हनुमान जयंती के अवसर पर पूर्णिमा को निकलने वाला चंद्रमा सुपर पिंक मून कहलाएगा। मंगलवार को शाम लगभग 7 बजकर 9 मिनिट पर पूर्व दिशा में जब चंद्रमा उदित होगा तो उसका आकार सामान्य पूर्णिमा के चंद्रमा की तुलना में बड़ा होगा और चमक भी अधिक होगी। नेशनल अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने बताया कि यह खगोलिय घटना सुपरमून कहलाती है।

यह इस साल पहला सुपरमून होगा। 99.7 प्रतिशत चमक के साथ चमकने वाले इस मून को यूएसए में बसंत ऋतु के आरंभ में खिलने वाले गुलाबी फूलों के आधार पर पिंक मून का नाम दिया गया गया है। इस दौरान चंद्रमा की पृथ्वी से दूरी लगभग 358113 किमी होगी। यह रात भर आकाश में रहकर सुबह सबेरे लगभग 6 :40 पर अस्त होगा।

माडल की मदद से बताया कि चंद्रमा पृथ्वी की परिक्रमा अंडाकार पथ पर करते हुए 361885 किमी से कम दूरी पर रहता है, तो उस समय पूर्णिमा का चांद सुपरमून कहलाता है। यह माइक्रोमून की तुलना में 14 प्रतिशत बड़ा और 30 प्रतिशत ज़्यादा चमकदार दिखता है। उन्होंने बताया कि सुपरमून को यादगार बनाने क्षितिज से उदित हो रहे चन्द्रमा की फोटोग्राफी की जा सकती है। मून इलुजन की घटना के कारण चंद्रमा विशाल गोले के रूप में दिखेगा। इस साल दो सुपरमून दिखने जा रहे हैं अगला सुपरमून 26 मई को होगा।

विभिन्न शहरों में इस समय होगा चंद्रोदय

जबलपुर में चन्द्रोदय शाम 6:58

छिंदवाड़ा में शाम 7:01

होशंगाबाद में शाम 7:07

भोपाल में शाम 7:0

इंदौर में शाम 7:15

Powered by Blogger.