MP : भोपाल में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वालों पर NSA की कार्यवाही



भोपाल। कोहेफिजा थाना पुलिस ने 20 अप्रैल को रेमडेसिविर के इंजेक्शनों की कालाबाजारी करने के आरोप में दो युवकों को गिरफ्तार किया था। उनके पास से रेमडेसिविर के तीन इंजेक्शन बरामद हुए थे। आरोपितों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत भी कार्रवाई कर दी गई है। एसपी (उत्तर भोपाल) विजय खत्री ने बताया कि 20 अप्रैल को शाम करीब साढ़े सात बजे पुलिस ने लालघाटी चौराहे के पास से बलराम प्रजापति और राजेंद्र मीणा को गिरफ्तार किया था। तलाशी में उनके पास से रेमडेसिविर के तीन इंजेक्शन बरामद हुए थे। वे लोग इंजेक्शन बेचने की फिराक में लालघाटी पहुंचे थे। चिरायु अस्पताल की कैंटीन में काम करने वाले दो युवकों के खिलाफ कोहेफिजा थाने में आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005, 3 महामारी अधिनियम 1897, 3/7 आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955, 5/13 मप्र ड्रग कंट्रोल एक्ट 1949 के तहत के दर्ज किया गया था।


उनके खिलाफ शुक्रवार को रासुका के तहत भी कार्रवाई कर दी गई। गौरतलब है कि राजधानी में पिछले कुछ दिनों से रेमडेसिविर की हेराफेरी के कई मामले सामने आने लगे हैं। हमीदिया अस्पताल के स्‍टोर से 863 इंजेक्शन की चोरी अभी भी रहस्य बनी हुई है। चोरी की बाकायदा एफआइआर तो दर्ज हुई है, लेकिन मामला जांच के नाम पर ठंडा पड़ गया है। मिसरौद, कोलार में भी इंजेक्शन पकड़े गए हैं। इसके अतिरिक्त क्राइम ब्रांच ने भी शाहजहांनाबाद इलाके में रेमडेसिविर इंजेक्शन के साथ चार लोगों को पिछले दिनों गिरफ्तार किया है।

Powered by Blogger.