लॉकडाउन के दौरान चोरों ने एक बड़ी वारदात को दिया अंजाम : सीढ़ी लगाकर घुसते थे बार में अय्याश चोर, हजम कर गए 52 बोतल शराब और 70 बियर

रायपुर। राजधानी रायपुर में लॉकडाउन के दौरान चोरों ने एक बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। पुरानी बस्ती इलाके के पांच बदमाश रिंग रोड भाटागांव के जिलेट बार में ऊपर से सीढ़ी लगाकर घुसे। फिर बार के काउंटर में रखी 52 शराब की बोतलें, 70 से अधिक बीयर की बोतलें, बार का डिस्पले, काउंटर में रखी महंगी वाइन की बोतलें, किचन में पड़ी आटे की बोरी, आलू, प्याज, सॉस, एलइडी टीवी और बर्तन चुरा ले गए।

चोरों ने यहां हाथ साफ करने के बाद बाहर इन चीजों को बेच दिया। हैरत की बात यह है कि सब कुछ लगातार चार दिनों तक होता रहा। चोर बार में आकर बीयर पीते, खाने-पीने की चीजें खाते और वहीं सो जाते थे। इसके बाद हर दिन कुछ न कुछ चुराकर ले जाते थे।

शराब प्रेमी चोरों की यह करतूत बार में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है। लॉकडाउन के दौरान बार में चोरों के धावा बोलने का यह पहला मामला सामने आया है। हालांकि इससे पहले भी चोरी की वारदातें हुई हैं लेकिन यह अपने आप में अनोखा चोरी का मामला कहा जा सकता है।

खाते-पीते कैमरे में कैद हुए बदमाश

बुधवार को जब बार संचालक सत्यम तिवारी बार पहुंचे तब उन्हें चोरी पता चला और फिर पुलिस को जानकारी दी गई। जांच के लिए बार पहुंची पुलिस ने सीसीटीवी कैमरा खंगाला तो चोर शराब,बियर गटकते दिखाई दिए। इस फुटेज के जरिए चोरों की पहचान की गई। फिर एक-एक करके चारों बदमाशों को दबोच लिया गया। पकड़े गए चोरों में भाठागांव के जितेंद्र साहू, गजेंद्र यादव, मुकेश यादव और मनोज धुव्र शामिल हैं। चारों को जेल भेज दिया गया। आरोपितों ने एक साल पहले भी इसी बार में चोरी की थी।

कोरोना संक्रमण से परेशान थे संचालक, इधर फायदा उठाते रहे चोर

शुभम विहार, महावीरनगर (पुरैना) निवासी बार के संचालक सत्यम तिवारी ने बताया कि हाल ही में उनकी भाभी कोरोना संक्रमित हो गई थीं, पूरा परिवार अस्पताल के चक्कर काट रहा था। बाद में उनकी मौत हो गई। सब लोग परेशानियों से जूझ रहे थे और इधर चोर अपनी करतूत को अंजाम दे रहे थे। सत्यम के मुताबिक 22 अप्रैल को पहली बार चारों बदमाश बार में घुसे। इसके बाद 26 तारीख तक इनका आना जाना चलता रहा। सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई चोरों की यह हरकत देखने पर पता चला।

लाइट ऑन करके भागे चोर

चोरी करने के लिए बदमाशों ने बार के अंदर कुछ लाइटें भी जला दी थीं। बार के पास से गुजर रहे सत्यम के एक परिचित ने फोन करके लाइट चालू होने की बात बताई थी, मगर पारिवारिक कारणों में उलझे रहने के कारण वे ध्यान नहीं दे पाए। बुधवार दोपहर 12.30 बजे दोस्त भूपेंद्र सिंह आनंद के साथ बार आए। खिड़की से देखा तो अंदर की लाइट जल रही थी। साइड में लगे शटर (लाजिंग जाने का रास्ता) का ताला खोलकर ऊपर रेस्टोरेंट गए।

वहां बिखरी चीजें, टूटे दरवाजों को देखकर साफ हो गया कि बदमाशों ने बार में धावा बोला है। रेस्टोरेंट से एलईडी टीवी समेत बार से बियर, शराब की बोतले, राशन, बर्तन, काउंटर व गल्ले में रखा दो हजार रुपये गायब था। सत्यम के मुताबिक चोर बांस की बल्ली (सीढ़ी) के सहारे सेकंड फ्लोर के बालकनी से आकर दरवाजा तोड़कर भीतर घुसे थे। चोरी गए सामानों का स्टाक रजिस्टर से मिलान करने के बाद ही पुलिस को इसकी सूची देने की बात कही।

आबकारी विभाग ने सील किया था बार

सत्यम ने बताया कि पुलिस ने चोरी करने वाले भाठागांव के चार युवकों को पकड़ तो लिया मगर बार में चोरी हुआ केवल एलईडी टीवी को छोड़कर अन्य सामान नहीं मिला। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन की वजह से बार को नौ अप्रैल की शाम छह बजे आबकारी विभाग के अफसरों ने सील कर दिया था। चोरी की जानकारी आबकारी विभाग को दे दी गई है।

Powered by Blogger.