रीवा-सतना : गर्मी से मिली थोड़ा राहत / शहर से लेकर गांव तक हुई 10 मिनट की बारिश : खरीदी केंद्रों में खुले में रखा गेहूं भीगा

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

विंध्य क्षेत्र के रीवा-सतना में गुरुवार दोपहर कई जगहों पर झमाझम बारिश हुई है। बे-मौसम वर्षा के कहर से खरीदी केंद्रों में खुले में रखा गेहूं भीग गया। वहीं, कई जगह गेहूं से लोड किसानों की ट्रैक्टर-ट्रॉलियों में पानी भर गया है। कई केंद्रों की मैपिंग न होने के कारण गेहूं खरीदी केंद्रों से उठाव नहीं हो पाया था। ऐसे में उन केंद्रो पर ज्यादा नुकसान की खबरें आ रही हैं। रीवा जिले के बैकुंठपुर क्षेत्र में बारिश से पहले आधी तूफान आया। फिर चने के आकर के ओले गिरे।

बता दें, दोपहर के बाद अचानक से मौसम ने अपना मिजाज बदला। पहले आसमान में कालिमा छाई। फिर देखते ही देखते रिमझिम बारिश शुरू हुई। वहीं, कई क्षेत्रों में आषाढ़ जैसी 20 मिनट तक बरसात हुई, जबकि ग्रामीण इलाकों में कई जगह आधी तूफान के साथ चने के आकार के ओले गिरने की खबर है।

रीवा: बैकुंठपुर क्षेत्र में हुई तेज बारिश

जिले के कई क्षेत्रों में दोपहर के बाद रिमझिम बारिश हुई है। वहीं, बैकुंठपुर क्षेत्र में बारिश से पहले आंधी तूफान आया। फिर चने के आकर के ओले गिरे। इसके बाद बैशाख में आषाढ़ जैसी बरसात हुई। ग्रामीणों ने बताया, 20 मिनट तक जमकर बदरा बरसे हैं। हालांकि बारिश से जहां लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत समझ में आई। वहीं, खरीदी केंद्र में खुले में रखा हजारों क्विंटल गेहूं भीग गया, जबकि बैकुंठपुर-पटना निर्माणधीन मार्ग में पुलिया के पास नई मिट्टी से बरसात के कारण कई दो पहिया वाहन सवार घंटों तक फंसे रहे। सभी बाइक सवार युवक कीचड़ में फंसी बाइक को निकालते समय पस्त हो गए। आरोप है, ठेकेदार कई महीनों से लापता है।

सतना: शहर से लेकर गांव तक हुई 10 मिनट की बारिश

मई महीने की भीषण गर्मी के बीच बारिश से थोड़ा राहत तो जरूर मिली है, लेकिन 10 मिनट की बारिश में सिर्फ सड़कों की धूल ही बैठी है। हालांकि आधी तूफान के कारण शहर में कई जगह हाई टेंशन लाइट और केविलों में फाल्ट की खबरें आ रही है। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में खरीदी केन्द्रों में खुले में रखी गेहूं की फसल भी भीग गई है, लेकिन 10 मिनट के वर्षा के कारण खास नुकसान नहीं हुआ है।

Powered by Blogger.