SATNA : नहीं थम रही ऑक्सीजन की कालाबाजारी : विंध्य इंजीनियरिंग कंपनी में छापा : 300 से अधिक सिलिंडर जब्त

सतना। कोरोना संक्रमण के कारण अस्पतालों में मरीजों की लाइन लगी है। वही ऑक्सीजन की समस्या से पूरा देश जूझ रहा है। मरीजों को ऑक्सीजन नहीं मिलने से उनकी जान जा रही है। लेकिन इस आपदा को भी अवसर बलकर इसका फायदा अब बिचौलिए उठा रहे हैं, जोकि ऑक्सीजन की कालाबाजारी में लिप्त है। कुछ इसी प्रकार के बड़े स्तर की कालाबाजारी सतना जिले में चल रही है। जिसकी भनक प्रशासन को लग गई और आज गुप्त सूचना पर कोलगवां थाना अंतर्गत विंध्य इंजीनियरिंग कंपनी में जब छापा मारा गया तो पुलिस और प्रशासन के अधिकारी हैरान हो गए। 

यहां तीन सौ से अधिक संख्या में ऑक्सीजन के जंबों सिलिंडर और एलपीजी के 20 सिलेंडर भंडारण कर कालाबाजारी के लिए रखे गए थे। जो जब्त किए गए हैं। पुलिस और जिला प्रशासन ने संयुक्त रुप से रणनीति बनाकर गुप्त सूचना के आधार पर यहां आज सुबह 10 बजे के लगभग छापा मारा। 

यह कार्रवाई दोपहर तक जारी रही और ढूंढ ढूंढ कर सिलिंडरों की गिनती की गई। इस दौरान मौके पर कलेक्टर, एसपी, एसडीएम, सीएसपी, थाना प्रभारी और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ-साथ पुलिस का बल भी मौजूद रहा।

25 हजार रुपये में बेच रहे थे ऑक्सीजन सिलिंडर

कलेक्टर अजय कटेसरिया के अनुसार आज सुबह गुप्त सूचना मिली कि विंध्य इंजीनियरिंग कंपनी प्रोपराइटर राजीव कुमार जैन द्वारा सूचनादाता को 25000 रुपये में ऑक्सीजन सिलिंडर एवं 7000 रुपये में सिलिंडर की किट बेची गई है पर प्रशासन द्वारा कड़ी नजर बताते हुए उसकी डिलीवरी नही दी जा रही है। जिससे उन्हें शंका हुई कि अवैध व्यापार चलाया जा रहा है। 


उक्त सूचना अनुसार जीएम डीआईसी आरके सिंह द्वारा अनुसंधान किया गया और एसडीएम राजेश शाही, सीएसपी विजय प्रताप सिंह एवं कोलगवां थाना प्रभारी देवेंद्र प्रताप सिंह की संयुक्त टीम द्वारा छापामार कार्रवाई की गई। जब्त किए गए, सिलिंडर की गिनती अभी चालू है। जब्त सिलिंडर का अधिग्रहण कर लिया गया है और यह मेडिकल प्रयोजन के लिए जिला अस्पताल एवं अन्य अस्पतालों को आवंटित किए जा रहे हैं। कलेक्टर अजय कटेसरिया ने बताया कि फर्म के विरुद्ध आपराधिक कार्रवाई की जा रही है।

Powered by Blogger.