REWA : महिला ने उठाया आत्मघाती कदम : जाको राखे साइयां मार सके न कोय; चार बच्चों के साथ यमुना नदी में कूदी महिला : नाविकों ने सुरक्षित बचाया

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा। मध्यप्रदेश के रीवा जिला अंतर्गत नईगढ़ी की रहने वाली महिला ने अपने चार बच्चों के साथ बीते दिनों उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में पहुंचकर आत्मघाती कदम उठाया है। यहां उक्त म​हिला मंगलवार की दोपहर यमुना नदी के नए ब्रिज के पास पहुंचकर छलांग लगा दी। हालांंकि हादसे के वक्त नदी में कई नाभिक मौजूद थे। जिन्होंने पांचों लोगों को जंप लगाते समय यमुना नदी के नीचे रेस्क्यू कर सुरक्षित बचा लिया है। आनन फानन में नाविकों ने कीडगंज थाना पुलिस को सूचना दी है।

जानकारी के बाद पहुंची पुलिस ने महिला सहित उसके चारों बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां सभी सुरक्षित तो है, लेकिन हाथ पैर में कई फैक्चर बनाए जा रहे है। इस पूरे मामले से अभी तक रीवा पुलिस अनजान है। न किसी ने अभी तक गुमशुदगी दर्ज कराई है और न ही प्रयागराज पुलिस द्वारा कोई सूचना दी गई है।

ये है मामला

मिली जानकारी के मुताबिक नईगढ़ी निवासी राधा कृष्ण तिवारी और उनकी पत्नी रोहिणी तिवारी के बीच पारिवारिक कलह चल रही थी। मंगलवार की सुबह राधा कृष्ण तिवारी ने किसी बात को लेकर बच्चे की पिटाई कर दी। जिससे नाराज होकर पूरा परिवार घर से निकला गया और दोपहर तक प्रयागराज के नैनी में बने नए ब्रिज के पास पहुंच गए। यहां पर महिला रोहिणी तिवारी 45 वर्ष अपनी बेटी रुपाली (24), मनाली (22), श्रेया (18) और बेटा अंश (15) के साथ नैनी ब्रिज में छलांग लगा दी।

मां और बेटी को गंभीर चोटें आई

ऊंचाई से गिरने के कारण महिला रोहिणी तिवारी और उसकी एक बेटी को गंभीर चोटें आई हैं। पुलिस का दावा है कि घटना के समय नदी में कई नाभिक मौजूद थे। जिन्होंने तत्काल पूरे परिवार को रेस्क्यू कर लिया। वहीं घायल महिला और उसके बच्चों ने बयान में बताया है कि पिता राधाकृष्ण तिवारी ध्यान नहीं देता है। हम लोगों से दुश्मनों की तरह व्यवहार करता है। इसीलिए थक हारकर मरने आए थे। लेकिन ईश्वर ने बचा लिया।

Powered by Blogger.