जानें, कौन से सेक्स पोजिशंस प्रेगनेंसी में समय पर डिलीवरी कराने में करते हैं मदद

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

अक्सर प्रेगनेंसी के दिनों में महिलाएं सेक्स करने से बचती हैं। उन्हें लगता है कि ऐसा करने से कहीं उन्हें या उनके गर्भ में पल रहे बच्चे को कोई नुकसान न हो जाए। कई बार पूरी तरह से सेक्स बंद कर देना भी डिलीवरी के समय समस्याएं पैदा करती हैं या डेट निकल जाने के कई दिनों बाद डिलीवरी हो पाती है। 

कई महिलाओं में ऐसा देखा जाता है कि गर्भावस्था की डिलीवरी डेट के बाद भी प्रसव नहीं हो पाता। इसे पोस्ट-टर्म डिलीवरी कहते हैं। ऐसा होने के बाद नॉर्मल डिलीवरी में अक्सर समस्याएं आती हैं। डॉक्टर को हार मानकर सिजेरियन डिलीवरी करानी पड़ती है। लेट डिलीवरी होने का डॉक्टर पहले पता नहीं कर पाते, जिसके कारण ये कई बार मां-बच्चे दोनों के लिए खतरनाक हो जाता है।

विषेशज्ञों का कहना है कि खानपान के साथ कई बार कुछ खास सेक्स पोजिशंस भी समय पर डिलीवरी कराने में मददगार होते हैं।

पोस्ट-टर्म डिलीवरी के कारण

कई बार अनुवांशिक कारण भी होते हैं जैसे परिवार में अगर किसी की पहले पोस्ट-टर्म डिलीवरी हुई हो तो, भी संभावना होती है। बच्चे के गर्भ में स्थिति सही नहीं होती है तो भी प्रसव में देरी हो सकती है। मोटापा भी प्रसव में देरी होने का मुख्य कारण होता है।

सेक्स से कराएं टाइम पर डिलीवरी

अगर परिवार में किसी की पोस्ट-टर्म डिलीवरी हुई होती है तो डॉक्टर पहले ही कई तरह के उपाय बताने लगते हैं जिससे की डिलीवरी टाइम पर हो जैसे चटपटा खाना, अच्छी हेल्दी रुटीन रखना, सुबह घूमना आदि। इन सबके अलावा कुछ विशेष तरह के सेक्स पोजिशंस भी समय पर डिलीवरी कराने में मदद करते हैं।

सेक्स पोजिशन 1

इस सेक्स पोजिशन में पुरुष और महिला ए-दूसरे के सामने लेटे होते हैं। उसके बाद पुरुष के शरीर पर महिला को अपना बायां पैर रखना होता है। इस पोजिशन में सेक्स करने से भ्रूण को किसी तरह का नुकसान नहीं होता और टाइम पर डिलीवरी में भी सहायक होता है।

सेक्स पोजिशन 2

एक आरामदायक सोफे पर महिला बैठ जाए। पुरुष उसके ठीक सामने सोफे पर बैठे। ऐसा करने के बाद इंटरकोर्स करें। इससे महिला को प्रसव करने में आसानी होती है।

सेक्स पोजिशन 3

महिला पीठ के बल बिस्तर पर लेट जाए। फिर अपने घुटनों को मोड़ ले और पैरों के बीच में कुछ जगह छोड़ दे। बिल्कुल वैसे ही लेटें जैसे डिलीवरी के दौरान महिला पैरों को खोलकर बिस्तर में लेटती है। अब इंटरकोर्स करें। इससे आप सेक्स का मजा भी ले पाएंगे और गर्भस्थ शिशु को कोई नुकसान भी नहीं होगा। साथ ही डिलीवरी भी टाइम पर हो जाएगी।

Powered by Blogger.