REWA : बैंक कर्मियों का नहीं हो रहा वैक्सीनेशन, अब तक 150 से ज्यादा मिल चुके हैं संक्रमित


रीवा में बैंक कर्मियों के साथ दोहरा रवैये अपनाया जा रहा है। बताया गया, फ्रंटलाइन वर्कर्स होने के बावजूद बैंक कर्मियों का वैक्सीनेशन नहीं कराया गया है, जबकि देश प्रदेश में बैंक कर्मियों को भी कोराना वॉरियर्स की श्रेणी में रखा गया है। साथ ही, कई जगह पहले ही वैक्सीन लगाई जा चुकी है। लगातार शहर से लेकर ग्रामीण अंचल के बैंक कर्मियों के साथ हो रही अनदेखी को लेकर बैंक एसोसिएशन के पदाधिकारी रामकृष्ण पांडेय ने कलेक्टर इलैया राजा टी को पत्राचार कर जल्द वैक्सीनेशन की मांग उठाई है।

बता दें, जिले में अब तक 150 से ज्यादा बैंक कर्मी संक्रमित मिल चुके हैं। वहीं, एक दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि कोरोना काल में सबसे ज्यादा बैंकों में ही भीड़ उमड़ती है। साथ ही, हर प्रकार के लोगों का बैंक आना-जाना रहता है, जिससे बैंककर्मी के साथ जनता भी संक्रमण का शिकार होती है। वहीं, बैंकक​र्मी के परिवार जनों पर खतरा बना रहता है।

जिले में भेदभाव का आरोप

बैंक एसोसिएशन के पदाधिकारी रामकृष्ण पाण्डेय ने बताया, बैंक कर्मचारी फ्रंटलाइन वर्कर्स माने गए हैं। बावजूद यहां बैंकर्स के साथ भेदभाव पूर्ण रवैया अपनाते हुए इन्हें वैक्सीनेशन नहीं किया जा रहा है। इसे लेकर रीवा के बैंकर्सों में आक्रोश है, जबकि अन्य जिलों में सभी बैंकर्स को कोरोना वैक्सीन के टीके लगाए जा चुके हैं। कलेक्टर से मांग करते हुए एसोसिएशन ने कहा है, केंद्र सरकार ने फ्रंटलाइन वर्कर्स (कोरोना वॉरियर्स) माना है। सभी बैंकर्स के वैक्सीन लगवाए जाने के लिए निर्देशित किया गया है। बावजूद इसका पालन यहां पर नहीं किया जा रहा।

Powered by Blogger.