शादी में बत्तमीजी पर नपे DM सोशल मीडिया पर लड़ बैठे लोग ! जबरन शादी बंदकरवा किया अपमानजनक व्यवहार

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

पश्चिमी त्रिपुरा जिले के डीएम शैलेश कुमार यादव को एक मैरिज हॉल में घुसकर दूल्हे, पंडित और शादी में शामिल अन्य मेहमानों के साथ अभद्र व्यवहार करने का खामियाजा उठाना पड़ा है. सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो वायरल हुआ था. जिसके बाद से शैलेश कुमार यादव को पद से हटाने का दबाव बढ़ता गया था.  

"शैलेश यादव ने दूल्हा और दुल्हन के साथ शारीरिक रूप से मारपीट की, शारीरिक रूप से कमजोर बुजुर्ग पुजारी को जबरन बाहर कर दिया और सभी बुजुर्ग लोगों के लिए अभद्र गालियों का इस्तेमाल करते हुए भगा दिया।"

उन्होंने खुलेआम पुलिस कर्मियों के साथ दुर्व्यवहार किया, पुलिस की वर्दी में हाथापाई की और उन्हें पश्चिम अगरतला पुलिस स्टेशन के कार्यालय प्रभारी को निलंबित करने की घोषणा की ... यहां तक ​​कि मौके पर मौजूद महिलाओं को भी दुर्व्यवहार से बख्शा नहीं गया।


डीएम का वीडियो वायरल

गौरतलब है कि बुधवार को डीएम शैलेश यादव ने पश्चिमी त्रिपुरा के एक मैरिज हॉल में छापेमारी मारी थी। डीएम इस शादी समारोह में पूरी पुलिस फोर्स के साथ यहां पहुंचे थे। इस दौरान डीएम शैलेश यादव ने लोगों के साथ बदसलूकी की। पुलिसकर्मियों ने लोगों पर डंडे भी बरसाए।

वहीं इस मामले में कानून मंत्री रतन लाल नाथ ने बताया कि इस मामले में डीएम ने गलती मान ली है. कानून मंत्री ने बताया कि मुख्य सचिव शैलेश कुमार यादव को सस्पेंड किया गया है.  रावल हेमेन्द्र कुमार को जिले का नया डीएम नियुक्त कर दिया गया है.  26 अप्रैल को डीएम ने एक मैरीज होम से जाकर शादी को बीच में ही रुकवा दिया था. साथ ही दूल्हे, पंडित समेत अन्य मेहमानों के साथ बदसलूकी की थी. इस घटना की कड़ी आलोचना हुई थी. अब इस मामले की जांच दो सीनियर आईएएस अफसर कर रहे हैं.

डीएम शैलेश कुमार यादव की इस हरकत पर बीजेपी विधायक आशीष दास उन्हें हटाने की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए थे. आशीष दास का कहना है कि उन्हें खुशी है कि  शैलेश कुमार यादव ने अपनी गलती को माना  है.

तुरंत माफी मांगी

वीडियो वायरल होने के बाद जिलाधिकारी शैलेश यादव ने तुरंत माफी मांग ली है। उन्होंने सफाई दी कि उनका उद्देश्य किसी की भावना को आहत करना नहीं था। वहीं सीएम बिप्लब कुमार देव ने मुख्य सचिव मनोज कुमार से घटना को लेकर रिपोर्ट तलब करने को कहा था।

जिलाधिकारी शैलेश यादव के दो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे. ये वीडियो डीएम द्वारा मैरिज हॉल पर की गई कार्रवाई के दौरान के थे. डीएम कोरोना महामारी  के इस समय में आयोजित शादी समारोह में शामिल लोगों द्वारा कोविड गाइडलाइन का पालन नहीं किए जाने पर भड़क गए थे.

डीएम ने मौके पर मौजूद दुल्हा, पंडित, लड़के, लड़की के माता-पिता और पुलिसकर्मियों के साथ बदसलूकी थी. जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था और उन्हें पद से हटाने की मांग होने लगी थी. 

Powered by Blogger.