REWA : बड़ी राहत : लॉकडाउन से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू/ शनिवार को जारी हेल्थ बुलेटिन में मिले 97 पॉजिटिव केस

रीवा जिले में 42 दिन बाद कोविड 19 कोरोना संक्रमण से राहत की खबर है। यहां शनिवार को जारी हेल्थ बुलेटिन में महज 97 पॉजिटिव केस मिले है। जिसमे शहरी क्षेत्र में 26 तो ग्रामीण एरिया में 71 संक्रमित मरीज आए है। ऐसे में अब जिला प्रशासन का प्रयास है कि 31 मई से पहले जिले में सभी एक्टिव केस ठीक हो जाए। ​जिसके बाद लॉकडाउन से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू हो हो जाए। हालांकि ग्रामीण क्षेत्रों में चल रहे किल कोरोना अभियान के सर्वे में उसी तरह संक्रमित मिल रहे है। जिनको स्वास्थ्य विभाग की मदद से गांव में ही दवा किट दी जा रही है। साथ ही गंभीर मरीजों को जेपी के कोविड सेंटर भेजा जा रहा है।

सीएमएचओ डॉ. एमएल गुप्ता ने बताया कि 22 मई को 97 नए कोरोना संक्रमित सामने आएं है। जिसमें शहर क्षेत्र में 26 तो ग्रामीण क्षेत्र में 71 केस मिलने मिले हैं। आरटी-पीसीआर के 842 सैंपल में 79 संक्रमित मरीज मिले। वहीं रैपिड एंटीजन के 684 जांच में 18 पॉजिटिव आए हैं। कुल 1526 सैंपल में 97 पॉजिटिव आए हैं। अब कुल एक्टिव केसों की संख्या 1662 हो गई है। जो महीनों की मेहनत के बाद कम हुई है। जबकि 232 नए मरीज स्वस्थ्य होकर अपने अपने घर पहुंचे हैं। अभी तक 16038 कुल पॉजिटिव केस आ चुके हैं। जहां स्वस्थ्य होकर घर जाने वालों की संख्या 14284 है। हालांकि सरकारी रिकॉर्ड में अभी तक महज 92 मौतें ही हुई हैं। वहीं मृत्यु के नए प्रकरण दो आएं हैं।

11 अप्रैल के बाद से राहत

बता दें कि 11 अप्रैल को पहली बार एक सैकड़ा संक्रमित सामने आए थे। जो 13 अप्रैल को दो सैकड़ा में बदल गए। लेकिन जिला प्रशासन ने जब 16 अप्रैल से जिले में लॉकडाउन लगा दिया। उस दिन से तीन सैकड़ा से ज्यादा मरीज आने लगे। ये सिलसिला 1 मई को 346, 2 मई को 339, 3 मई को 330, 4 मई को 341, 5 मई को 301, 6 मई को 309 और 7 मई को 313 मरीज आए थे। इसके बाद 8 मई को तीन सैकड़ा से मरीज कम हुए। फिर 15 मई को 189 केस मिलने के बाद क्रमश: मरीजों की संख्या कम होती चली गई।

मई माह में आए केस

1 मई 346

2 मई 339

3 मई 330

4 मई 341

5 मई 301

6 मई 309

7 मई 313

8 मई 297

9 मई 263

10 मई 251

11 मई 249

12 मई 232

13 मई 226

14 मई 225

15 मई 189

16 मई 170

17 मई 158

18 मई 175

19 मई 158

20 मई 148

21 मई 127

22 मई 97

कुल केस 5244

(स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी कोरोना रिपोर्ट के आधार पर)

नगरीय निकाय प्रतिनिधियों के सहयोग से ही कोविड प्रबंधन संभव

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि शहरी क्षेत्रों में कोरोना की विपदा का सामना करने में नगर पालिका, नगर परिषद के जन-प्रतिनिधियों की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। यह लड़ाई किसी के लिए भी अकेले लड़ पाना संभव नहीं था। आप सबके सहयोग से ही प्रदेश में कोरोना को नियंत्रित किया जा सका है। आज प्रदेश की समग्र पॉजिटिविटी दर घटकर 4.82 प्रतिशत हो गई है। यह जन-प्रतिनिधियों के सक्रिय सहयोग से संभव हुआ है। कोरोना को नियंत्रित रखने, 31 मई तक लॉकडाउन का कड़ाई से पालन करने और एक जून से व्यवस्थाओं को धीरे-धीरे आरंभ करने की आगामी रणनीति भी नगरीय निकायों के जन-प्रतिनिधियों के सुझाव से ही बनेगी और इसका क्रियान्वयन भी आपके सहयोग से ही होगा। वीडियो कान्फ्रेंसिंग में स्थानीय एनआईसी केन्द्र में सांसद जनार्दन मिश्र, रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ल, पूर्व महापौर ममता गुप्ता, आयुक्त नगर निगम मृणाल मीणा, संयुक्त कलेक्ट एके झा तथा नगरीय निकाय के अन्य जनप्रतिनिधिगण उपस्थित रहे।

Powered by Blogger.