GOOD NEWS : दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार की घोषणा : कोरोना संकट में ऑटो और रिक्शा चालकों को 5-5 हजार और गरीबों को मुफ्त राशन देने की आर्थिक मदद


राजधानी दिल्ली में कोरोना महामारी और लॉकडाउन का सबसे ज्यादा असर गरीबों पर हुआ है। दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने ऐसे गरीबों को मुफ्त राशन देने की घोषणा की है। मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में अरविंद केजरीवाल ने कहा कि राजधानी के ऑटो और रिक्शा चालकों को सरकार 5-5 हजार की आर्थिक मदद दी जाएगी। केजरीवाल ने कहा कि पिछले साल भी दिल्ली सरकार ने करीब 1 लाख 56 हजार ड्राइवरों की मदद की थी। बता दें, दिल्ली भी देश के उन राज्यों में शामिल है जहां कोरोना संक्रमण की स्थिति बहुत खराब है। दिल्ली को ऑक्सीजन की सबसे ज्यादा किल्लत से जुझना पड़ रहा है।

दिल्ली में आइपीएल मैच रोकने की मांग

इस बीच, राष्ट्रीय राजधानी में आइपीएल के मैच रोकने की मांग को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई है। एक अधिवक्ता ने याचिका दायर कर इस संबंध में केंद्र व दिल्ली सरकार के साथ ही बीसीसीआइ व दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) को निर्देश देने की मांग की है। याचिकाकर्ता करण एस ठुकराल ने मांग की है कि दिल्ली में क्रिकेट मैच पर प्रतिबंध लगाकर स्टेडियम का इस्तेमाल कोरोना महामारी से राहत पहुंचाने के लिए किया जाए। उन्होंने कहा कि दिल्ली में मैच का आयोजन तब किया जा रहा है, जब यहां लोग बेड, आक्सीजन और दवा की समस्या से जूझ रहे हैं। न्यायमूर्ति प्रतिबा एम सिह की पीठ ने यह कहते हुए याचिका को दूसरी पीठ को स्थानांतरित कर दिया कि इस पर जनहित याचिका के तौर पर सुनवाई होनी चाहिए।

राकलैंड अस्पताल में होगा वकीलों का इलाज

कोरोना से पीड़ित अधिवक्ताओं के इलाज के लिए पीठ ने द्वारका स्थित राकलैंड अस्पताल को बीसीडी को सौंपने का आदेश दिया है। अधिवक्ताओं के लिए चिकित्सा सुविधा देने के मांग को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई के दौरान बीसीडी (बार काउंसिल आफ दिल्ली) के चेयरमैन रमेश गुप्ता ने कहा कि दिल्ली सरकार ने बताया है कि द्वारका स्थित राकलैंड अस्पताल पूरी तरह से खाली है। वहीं, अस्पताल की तरफ से बताया गया कि उसके मालिक अस्पताल को डीएम या प्राधिकरण को सौंपने को तैयार हैं। अस्पताल में कुल 77 बेड, छह आइसीयू बेड और आक्सीजन सिलेंडर हैं। इस मामले में अगली सुनवाई छह मई को होगी।


Powered by Blogger.