MP : NLIUB बना देश का पहला जीआइपी कोर्स शुरू करने वाला विधि विश्वविद्यालय, सत्र 2021-22 में शुरू किए चार नए कोर्स


भोपाल। राजधानी भोपाल में स्थित राष्ट्रीय विधि संस्थान विश्वविद्यालय (एनएलआइयू) ने सत्र 2021-22 में चार नए कोर्स शुरू किए हैं। इसमें दो साल का पीजी कोर्स ग्रेजुएट इंसॉल्वेंसी प्रोग्राम (जीआइपी) भी शामिल है। एनएलआइयू इस कोर्स को शुरू करने वाला देश का पहला विधि विश्वविद्यालय बन गया है।

विवि ने इस पाठ्यक्रम के संचालन के लिए इंसॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी बोर्ड ऑफ इंडिया (आइबीबीआइ) को 15 जनवरी को प्रस्ताव भेजा था, जिसका अनुमोदन फरवरी में हो गया था। अब शैक्षणिक सत्र 2021-22 से इस जीआइपी को शुरू किया जा रहा है। यह कोर्स उन अभ्यर्थियों के लिए विशेष महत्व रखता है, जो इंसॉल्वेंसी (दिवालिया हो जाने की प्रक्रिया) जैसे विषयों में अध्ययन में रुचि रखते हैं। दो वर्ष के इस पाठ्यक्रम में 40 विद्यार्थियों का चयन होगा। एनएलआइयू के कुलपति ने इस कोर्स के क्रियान्वयन के लिए जीआइपी पाठ्यक्रम समन्वय समिति का गठन भी किया है। इसमें पाठ्यक्रम निदेशक के रूप में डॉ. घयूर आलम, उप-पाठ्यक्रम निदेशक डॉ. मोनिका राजे, सदस्य डॉ. अतुल कुमार पांडे और पाठ्यक्रम समन्वयक अमित प्रताप सिंह को बनाया गया है।

तीन नए पीजी डिप्लोमा कोर्स भी शुरू

एनएलआइयू ने तीन नए पीजी डिप्लोमा कोर्स साइबर लॉ, लेबर लॉ और आर्बिट्रेशन (मध्यस्थता) भी इस सत्र से शुरू किए हैं। ये तीनों कोर्स छह-छह माह के होंगे। इसमें 50-50 विद्यार्थियों को प्रवेश दिया जाएगा।

एनएलआइयू जीआइपी कोर्स शुरू करने वाला देश का पहला विधि विश्वविद्यालय है। इस कोर्स को करने के बाद विद्यार्थियों को नए अवसर उपलब्ध होंगे।

- डॉ. वी विजय कुमार, कुलपति, एनएलआइयू

Powered by Blogger.