MP : कोरोना काल में ऑटो को एंबुलेंस बनाकर लोगों को निशुल्क सेवा दे रहे जावेद को अब पुलिस ने दी विशेष अनुमति



भोपाल। कोरोना काल में अपने ऑटो रिक्शा में ऑक्सीजन जैसी सुविधा के साथ मरीजों को निश्शुल्क अस्पताल पहुंचा रहे जावेद खान को शनिवार सुबह भानपुर के पास पुलिस ने रोक लिया। वह एक मरीज को लेने जा रहे थे। मिन्नतें करने के बाद भी पुलिस नहीं मानी और थाने लाकर जावेद के खिलाफ धारा-188 के तहत केस दर्ज कर दिया। उधर घटना की इंटरनेट मीडिया पर जबरदस्त प्रतिक्रिया सामने आने पर मामला वरिष्ठ अफसरों के संज्ञान में आया। इसके बाद शाम को पुलिस ने दोपहर में दर्ज किए गए केस में खारिजी लगा दी। जावेद के लिए एक विशेष पास जारी किया गया है, ताकि उसे लॉकडाउन के दौरान रोक-टोक का सामना नहीं करना पड़े।

बाग फरहतआफजा निवासी जावेद खान ने अपने ऑटो रिक्शा को एंबुलेंस बनाकर मरीजों की सेवा शुरू की है। जावेद ने बताया कि शनिवार सुबह एक भानपुर से एक मरीज को सीटी स्केन कराने के लिए ले जाना था। मरीज को आॅक्सीजन की भी जरूरत थी। जावेद मरीज को लेने जा रहे थे, तभी भानपुर पर छोला मंदिर पुलिस ने उसे रोक लिया। जब उसने मरीज की गंभीर हालत का हवाला देते हुए जाने की अनुमति देने को कहा, तो पुलिस उसे ऑटो सहित थाने ले आई। 

घटना के बारे में पता चलते ही इंटनेट मीडिया में पुलिस कार्रवाई की जमकर आलोचना का दौर शुरू हो गया। मामला संज्ञान में आने के बाद पुलिस अधिकारियों ने माना कि जावेद भी कोरोना वॉरियर है। इसके बाद उसके खिलाफ धारा-188 के तहत दर्ज किए गए अपराध को खारिज कर दिया गया है।

Powered by Blogger.