MP : पांच लाख रूपये हड़पने के लिए गढ़ी थी लूट की कहानी, भाई ने भी की थी मदद, दोनों गिरफ्तार


भोपाल। कोहेफिजा थाना इलाके में शुक्रवार शाम विशप हाउस के पास हुई पांच लाख रूपये की लूट के मामले का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया है। दरअसल फरियादी ने किसान के पांच लाख रूपये हड़पने के लिए लूट की झूठी कहानी गढ़ ली थी। इस मामले में उसके भाई ने भी मदद की थी। दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

कोहेफिजा थाना प्रभारी अनिल वाजपेयी ने बताया कि कोहेफिजा में रहने वाले रईस खान की रायसेन जिले में जमीन है। उस जमीन की देखरेख का काम हल्केसिंह लोधी (40)करता है। जमीन पर देहगांव निवासी साबिर खान बटाई पर खेती करता है। साबिर ने गेहूं की फसल के पांच लाख 10 हजार रूपये रईस खान को देने के लिए हल्केसिंह के सिपुर्द किए थे। रूपये हाथ में आने के बाद हल्केसिंह के मन में रूपये हड़पने का विचार आया। उसने अपने भाई मंगलसिंह के साथ मिलकर लूट की कहानी गढ़ ली। योजना के तहत उसने रूपये साबिर से मिले रूपये जमीन मालिक रईस खान के नकतरा चंदेरी स्थित फार्म हाउस पर छिपा दिए थे। इसके बाद शाम सात बजे कोहेफिजा इलाके में विशप हाउस के पास पहुंचकर लूट की कहानी गढ़ थी थी।

चाकू से खुद को चोट भी पहुंचाई थी

टीआइ वाजपेयी ने बताया कि हल्केसिंह ने बताया था कि बाइक से आए दो बदमाशों में से एक ने लूट का विरोध करने पर उसके बाएं हाथ पर चाकू मार दिया था। उसके बाएं हाथ में चोट का निशान भी था। लूट का केस दर्ज करने के बाद जब हल्केसिंह से पूछताछ शुरू की गई तो वह बार-बार बयान बदलने लगा। अंतत: उसने रूपये हड़पने के लिए खुद को चाकू से जख्मी कर लूट की झूठी कहानी गढ़ने की बात कुबूल कर ली। उसकी निशानदेही पर फार्म हाउस में छिपाकर रखे गए पांच लाख 10 हजार रूपये भी बरामद कर लिए गए हैं।

Powered by Blogger.