REWA : लॉकडाउन में पेशेवर अपराधी पिता पुत्र परोस रहे थे देशी शराब की बड़ी खेप, एक आरोपी से 70 पेटी बरामद, दो मौके से फरार

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें


रीवा जिले में लॉकडाउन के दौरान परोसी जाने वाली देशी शराब की बड़ी खेप पकड़ी गई है। यहां एक आरोपी के कब्जे से 70 पेटी शराब बरामद हुई है। वहीं अवैध तस्करी में लिप्त पिता-पुत्र फरार है। ग्रामीणों का कहना है​ कि पिता एवं दो पुत्र मिलकर गांव गांव में नशा पहुंचा रहे थे। उनको पुलिस-प्रशासन का कोई भय तक नहीं है। ये तीनों पेशेवर अपराधी है। पिता के खिलाफ जहां आठ से ज्यादा अपराध मऊगंज थाने में दर्ज है। वहीं दोनों बेटों के खिलाफ भी आधा दर्जन मामले आबकारी एक्ट के दर्ज है।

सूत्रों का कहना है कि सीधी जिले से लाई गई 70 पेटी शराब पैकारी के लिए मऊगंज के पतियारी गांव में लाई गई थी। जिसको एसपी राकेश कुमार सिंह, एएसपी विजय डाबर के निर्देश पर मऊगंज थाना प्रभारी विद्यावारिधि तिवारी ने मंगलवार की दोपहर पकड़ा है।

ये है मामला

एसपी राकेश कुमार सिंह को मंगलवार की सुबह एक इनपुट मिला था कि लॉकडाउन में शराब की मांग को पूरा करने के लिए पतियारी गांव बड़ी खेप पहुंची है। ​जो हीरालाल यादव पिता कलई यादव एवं उसके पुत्र संजय यादव, बृजेश यादव अपने घर में बिक्री के लिए रखे हुए है। सूचना सही पाए जाने पर मऊगंज थाना प्रभारी विद्यावारिधि तिवारी को पुलिस टीम के साथ पतियारी गांव में छापा मार कार्रवाई करने के लिए भेजा गया। जहां आरोपी के घर की घेराबन्दी कर 70 पेटी देशी प्लेन शराब मिली। कैरेट की जांच में पता चला कि एक पेटी में 45 शीशी पाई गई। वहीं सभी का वजन 200 एमएल पाया गया। इस तरह 70 पेटी में कुल 3150 शीशी में 630 लीटर शराब जब्त की गई। पुलिस ने जब्त शराब की कीमत 2.70 लाख रुपए बताई है। वहीं तीनों आरोपियों के खिलाफ धारा 34 (2) आबकारी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। जबकि एक आरोपी संजय यादव पिता हीरालाल 24 वर्ष निवासी पतियारी को गिरफ्तार किया गया है। वहीं आरोपी हीरालाल यादव तथा उसके दूसरा पुत्र बृजेश यादव की फरार है।

पिता-पुत्र आदतन अपराधी

पुलिस ने बताया कि आरोपी हीरालाल यादव पिता कलई और उसका पुत्र संजय यादव व बृजेश यादव आदतन अपराधी है। जिनके विरुद्ध मऊगंज थाने में दो दर्जन से ज्यादा अपराध पंजीबद्ध है। हीरालाल यादव के विरूद्ध अप.क्र. 263 / 2006 धारा 13 जुआ एक्ट, अप०क्र0 161 / 2013 धारा 34 आबकारी अधिनियम, अप०क्र० 344 / 2014 धारा 34 आबकारी अधिनियम, अपक्र0 360 / 2014 धारा 8 / 20 (बी) एनडीपीएस एक्ट, 109 भारतीय दण्ड विधान, अपoक्र0 92 / 2017 धारा 34ए आबकारी अधिनियम, अपoक्र० 141 / 2019 धारा 34ए आबकारी अधिनियम, अप०क्र0 301 / 2019 धारा 34 (2) आबकारी अधिनियम, अप०क्र0 25/ 2020 धारा 279, 337 भारतीय दण्ड विधान पंजीबद्ध हुए है तथा इश्तगासा क्र० 30 / 2014 धारा 110 दण्ड प्रक्रिया संहिता, इश्तगासा क्र0 44 / 2014 धारा 151, 107 116 (3) दण्ड प्रक्रिया संहिता के तहत प्रतिबंधक कार्यवाही की गई है।

Powered by Blogger.