REWA : सेवा भाव से गरीब व जरूरतमंद व्यक्तियों को कोरोना वालेंटियर्स द्वारा बांटे जा रहे हैं भोजन के पैकेट

कोरोना संक्रमण के विषम दौर में जिले के कोरोना वालेंटियर्स सेवा भाव से गरीब व जरूरतमंद व्यक्तियों को भोजन के पैकेट वितरित कर रहे हैं। जिला समन्वयक जन अभियान परिषद प्रवीण पाठक ने बताया कि शहर के विभिन्न वार्डों की गरीब बस्तियों में कोरोना वालेंटियर्स जरूरतमंदों को भोजन सामग्री पहुंचा रहे हैं। विघ्नहर्ता सेवा संस्थान एवं हेल्पिंग हैंड रीवा फाउंडेशन के सदस्य प्रतिदिन शहर की विभिन्ना्‌ा गरीब बस्तियों में जाकर लोगों को भोजन सामग्री व पैकेट वितरित कर रहे हैं। संक्रमण की गति को नियंत्रित करने में सफलता मिली है।

शासकीय महाविद्यालय नईगढ़ी में ज्ञान गंगा डिजिटल कनेक्ट कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ

रीवा। शासकीय महाविद्यालय नईगढ़ी में ज्ञान गंगा डिजिटल कनेक्ट कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उच्च्‌ा शिक्षा विभाग के अतिरिक्त संचालक डॉ. पंकज श्रीवास्तव थे। डिजिटल कार्यक्रम में विशेषज्ञ के रूप में डॉ. अर्चना गुप्ता, डॉ. ज्योति सिंह तथा कार्यक्रम के अध्यक्ष डॉ. एचपी सिंह रहे। इस दौरान विशेषज्ञों द्वारा कोरोना से बचाव के उपाय बताए गए।

डॉ. अर्चना गुप्ता ने कोविड पौष्टिक आहार के बारे में जानकारी दी तथा डॉ. ज्योति सिंह द्वारा कोविड-19 के दौर में सावधानी बरतने के तरीके बताए गए। उन्होंने बताया की व्यायाम, उचित आहार और टीकाकरण के द्वारा शरीर की इम्यूनिटी, बढ़ती है। युवाओं को साइकिलिंग, तैराकी, क्रिकेट बैडमिंटन, स्किपिंग जैसे खेल सोशल डिस्टेंसिंग के साथ खेलना चाहिए। यह महामारी का समय है अतः कोई भी लक्षण होने पर, प्रथम दृष्टया यह मानना चाहिए कि यह कोरोना का इंफेक्शन है, और तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए। बुखार, गले में दर्द, कमजोरी, उल्टी, दस्त जैसे लक्षण होने पर तत्काल होम आइसोलेशन प्रारंभ कर लेना चाहिए। कोरोना का टेस्ट कराना चाहिए और डॉक्टर की सलाह लेना चाहिए । लक्षण होने पर डॉक्टर की बताई हुई सभी दवाइयां लेनी चाहिए, टेस्ट नेगेटिव आने पर भी दवाइयां चालू रखना चाहिए। अधिकतर व्यक्ति होम आइसोलेशन, पेरासिटामोल तथा मल्टीविटामिन और जिंक की टेबलेट लेकर ही ठीक हो जाते हैं।

Powered by Blogger.