MP BOARD का फार्मूला : अब CBSE की तर्ज पर बन सकता है 12वीं का रिजल्ट, प्रस्ताव में 40-60% का फाॅर्मूला शामिल


मध्यप्रदेश में भी एमपी बोर्ड 12वीं का रिजल्ट CBSE की तर्ज पर बन सकता है। हालांकि MP में अभी 40-60% का प्रस्ताव बनाया गया है। हालांकि रिजल्ट से संबंधित निर्णय लेने के लिए बनाई गई मंत्री समूह की बैठक नहीं हो सकी है। सूत्रों की मानें, तो अब तक फाॅर्मूला नहीं होने के कारण बैठक नहीं हो सकी है।

CBSE के कदम का इंतजार था

सूत्रों की मानँ तो अब तक शासन CBSE के अगले कदम का इंतजार कर रहे थे। बताया जाता है कि CBSE के फाॅर्मूला को ही आदर्श मानकर उसके अनुसार ही एमपी बोर्ड के 12वीं के रिजल्ट तैयार करने पर विचार किया गया है। संभावना है कि इसमें कुछ बदलाव के साथ रिजल्ट बनाया जा सकता है।

क्या है 30:30:40 फॉर्मूला?

CBSE के बनाए पैनल ने 12वीं के छात्रों के मूल्यांकन के लिए 30:30:40 का फॉर्मूला तय किया है। इसके तहत, 10वीं- 11वीं के फाइनल रिजल्ट को 30 प्रतिशत वेटेज दिया जाएगा। 12वीं के प्री- बोर्ड एग्जाम को 40% वेटेज दिया जाएगा। CBSE ने 4 जून को 12वीं के स्टूडेंट्स की मार्किंग स्कीम तय करने के लिए एक 13 सदस्यीय कमेटी गठन किया था। इस समिति को 10 दिनों में रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए गए थे।

मध्यप्रदेश सरकार का फाॅर्मूला

सूत्रों की मानँ, तो एक और फाॅर्मूला तैयार किया गया है। इसमें कहा गया है कि अब दसवीं बोर्ड परीक्षा का परिणाम व बारहवीं के रिवीजन और छमाही परीक्षा के आधार पर बारहवीं का फार्मूला तैयार किया गया है। हालांकि कहा जाता है कि इस आधार पर भी मूल्यांकन करना मुश्किल होगा।

Powered by Blogger.