MP : छेड़छाड़ करने वाले मनचले को फटकार लगाना एक छात्रा को पड़ा भारी, छात्रा का नंबर वायरल कर लिखा- कॉल गर्ल, 100 से ज्यादा काॅल आते : फिर ..

भोपाल में छोटी बहन से छेड़छाड़ करने वाले मनचले को फटकार लगाना एक छात्रा को भारी पड़ी गया। आरोपी ने बदला लेने के लिए सोशल मीडिया पर छात्रा का नंबर और प्रोफाइल सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। इसके बाद छात्रा के पास दिन में 100 से अधिक कॉल आने लगे। वह उससे गंदी-गंदी और अश्लील बातें करते। परेशान छात्रा की शिकायत पर जब साइबर क्राइम ने आरोपी को पकड़ा, तो इसका पता चला। पकड़े जाते ही आरोपी की पुलिस से माफी मांगते हुए हाथ-पैर पकड़ने लगा।

मूलत: भोपाल निवासी युवती प्रतियोगी परिक्षाओं की तैयारी कर रही है। उसने थाना क्राइम ब्रांच भोपाल में अनचाहे नंबर से वाट्सएप कॉल और अश्लील मैसेज आने की शिकायत की। ASP जोन-1 अंकित जायसवाल ने बताया कि मामला दर्ज कर उसे जांच में लिया गया। पड़ताल के बाद पुलिस विदिशा में रहने वाले 23 साल के अमित तक पहुंची। अमित फिलहाल कुछ नहीं करता है। पुलिस ने जब लड़की को इसके बारे में बताया, तो सामने आया कि वह तो उसे जानती है। उसके बाद आरोपी बचने के लिए पुलिस के हाथ-पैर जोड़ने लगा।

इसलिए कर रहा था बदनाम

अमित ने बताया, वह छात्रा की छोटी बहन को भी परेशान करता था। इसकी शिकायत उसने बड़ी बहन से की थी। उसने उसे फटकारते हुए उसकी छोटी बहन से दूर रहने की हिदायत दी थी। उसके बाद भी वह उसे परेशान करता था। इसे लेकर उसकी बड़ी बहन ने दो-तीन बार उसे झगड़ा किया था। इसी का बदला लेने के लिए उसने ऐसा किया।

इस तरह फर्जी प्रोफाइल बनाया

आरोपी अमित ने बताया कि उसने फर्जी कागजात की मदद से एक नंबर लिया। इसी नंबर के आधार पर उसने एक फेसबुक पर छात्रा के नाम पर फर्जी प्रोफाइल बनाया। यह प्रोफाइल कॉल गर्ल की तरह था। इसमें उसने उसकी कुछ फोटो भी सोशल मीडिया से निकालकर लगा दी थीं। इसमें उसने छात्रा का ही नंबर शेयर किया था। उसने नंबर के साथ ही लिखा कि वह कॉल गर्ल है। अगर कोई उससे प्यार भरी बातें और प्यार करना चाहता है, तो इस नंबर पर फोन करे।

दिन में 100 तक कॉल आने लगे

छात्रा ने बताया कि यह सिलसिला करीब 100 दिन से चल रहा है। उसे पहले दिन में एक-दो वाट्सएप कॉल मैसेज आते थे, लेकिन धीरे-धीरे यह बढ़ गए। अब तो दिन में 100 तक कॉल आ रहे हैं। सभी उससे अश्लील बातें करते हैं।

पुलिस की सलाह

सोशल मीडिया पर अपने फोटो शेयर करने से बचें।

सिर्फ बहुत ही परिचितों और करीबियों को ही सोशल मीडिया पर दोस्त बनाएं।

छेड़छाड़ होने या किसी के परेशान करने पर तत्काल परिजनों और पुलिस को सूचना दें।

अपना फोन नंबर सिर्फ अपने रिश्तेदारों या परिचितों को ही दें।

अनजान कॉल को रिसीव करने से बचें।

Powered by Blogger.