सवाल : आखिर किसी को मुस्लिम से शादी करने के लिए अपना धर्म क्यों बदलना पड़ता है : कंगना रनोट

कंगना रनोट ने आमिर-किरण के तलाक के बाद सोशल मीडिया पर अपनी राय रखी है। उन्होंने मुस्लिम कम्युनिटी को आड़े हाथों लिया है और सवाल उठाए हैं। कंगना ने सोशल मीडिया स्टोरी पर लिखा है कि आखिर किसी मुस्लिम के साथ रहने के लिए मुस्लिम क्यों होना पड़ता है।

कंगना के 5 सवाल

एक समय पर पंजाब में ज्यादातर परिवारों में अपने एक बेटे को हिंदू जबकि दूसरे बेटे को सिख बनाने का रिवाज था। ऐसा चलन हिंदुओ और मुस्लिम या सिख और मुस्लिम में देखने को नहीं मिला।

आमिर खान सर के तलाक के बाद मुझे ताज्जुब होता है कि अंतरधार्मिक विवाह में बच्चे हमेशा मुस्लिम ही क्यों बनते हैं।

क्यों आखिर महिलाएं हिंदू नहीं बनी रह पाती हैं। वक्त बदलने के साथ हमें यह भी बदलना चाहिए। यह एक पुरानी और उल्टी प्रथा है।

अगर एक परिवार में हिंदू, जैन, बौद्ध, सिख, राधास्वामी और नास्तिक साथ रह सकते हैं तो मुस्लिम क्यों नहीं?

आखिर क्यों किसी को मुस्लिम से शादी करने के लिए अपना धर्म बदलना पड़ता है?'

2 शादियां की, दोनों नहीं चलीं

आमिर का दूसरी पत्नी किरण राव से 3 जुलाई को तलाक हो गया है। आमिर ने 2005 में किरण राव से शादी की थी और उनका एक बेटा आजाद है। इससे पहले आमिर खान ने 1986 में रीना दत्ता से शादी की थी जिनसे उनका तलाक 2002 में हो गया था। आमिर और रीना के दो बच्चे बेटा जुनैद और बेटी आइरा हैं।

Powered by Blogger.