FASTAG के कारण स्थानीय लोगों के वाहनों का कट रहा था टोल, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर प्रदर्शन करते हुए टोल प्लाजा पर लगे फास्टैग को उखाड़ फेंका

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें


पिपलियामंडी टोल बूथ पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर प्रदर्शन करते हुए टोल प्लाजा पर लगे फास्टैग को उखाड़ फेंका। कुछ समय से टोल प्लाजा पर स्थानीय लोगों से भी टोल वसूला जा रहा था। इस बात से परेशान होकर जब इन्होंने टोल मैनेजर से शिकायत की तो मैनेजर ने कहा कि फास्टैग एक इलेक्ट्रॉनिक पेमेंट सिस्टम है। हम लोग इसमें कुछ नहीं कर सकते। टोल प्लाजा पर सभी रो में मशीनें लगा दी गई हैं। जिससे टोल कट रहा है। इसकी शिकायत इन्होंने कांग्रेसियों से की थी। नियम है कि जिस क्षेत्र में टोल प्लाजा बनाया गया है वहां के स्थानीय निवासियों से टोल नहीं लिया जाएगा।

नीमच में तालिबानियों की तरह बर्बर मामला : मामूली बात पर आदिवासी को जमकर पीटा, फिर पिकअप से बांधकर 100 मीटर तक घसीटा; गंभीर हालत में अस्पताल में तोडा दम : 5 आरोपियों गिरफ्तार

क्रेन पर चढ़कर हटा दी फास्ट टैग मशीन

कांग्रेस कार्यकर्ताओं को जब इस समस्या का पता चला तो उन्होंने शुक्रवार शाम को स्थानीय लोगों से टोल वसूले जाने के आरोप में जमकर हंगामा शुरू कर दिया। कार्यकर्ताओं ने कुछ देर के लिए चक्काजाम भी किया। इसके बाद क्रेन पर चढ़कर एक रो से फास्ट टैग मशीन को उखाड़ दिया। कांग्रेस और स्थानीय लोगों के आक्रोश के कारण टोल कंपनी के अधिकारियों ने भी आश्वासन दिया है कि आगे से स्थानीयों से टोल शुल्क नहीं वसूला जाएगा।

एक और नई पहल : आज से राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू : अब कॉलेजों में नए सत्र से होंगे एडमिशन

कांग्रेस नेता श्यामलाल जोकचंद ने बताया कि पिपलियामंडी टोल के पास रहने वाले रहवासियों के भी जबरन टोल काटे जा रहे थे। जब इन्होंने इस बात की शिकायत की तो कोई सुनवाई नहीं हुई। इसलिए लोगों की समस्या को समझते हुए हमने टोल के एक रो से फास्टैग मशीन को निकाल दिया है।

Powered by Blogger.