REWA : युवाओं का शोषण बंद करो : अब युवाओं को उनका हक दिलाने के लिए होगा संघर्ष, 9 अगस्त को कलेक्ट्रट धरना पर बुलंद की जाएगी आवाज

रीवा. क्रांति के महीने अगस्त में जिले के युवाओं ने साथियों के हक व हुकूक के लिए आवाज बुलंद करने का फैसला किया है। इसके लिए तारीख की भी घोषणा कर दी गई है।

दरअसल ये युवा सरकारी विभागों में आउटसोर्सिंग और निजी कंपनियों में काम करने वाले उन युवाओं को उनका हक दिलाने की मांग कर रहे हैं जो उन्हें नहीं मिल रहा। अब बिजली विभाग के मउगंज सब डिविजन के खर्रा का ही उदाहरण लें जिसमें काम के दौरान युवा आपरेटर पवन तिवारी झुलस गया, लेकिन उन्हे अब तक न्याय नहीं मिला। न कम्पनी की ओर से कोई पहल हुई, न प्रशासन की ओर से आर्थिक मदद दी गई। इसके चलते पूरा परिवार बेहद परेशान है। ऐसे में ये युवा टोली परिवार को मदद की मांग प्रशासन से कर रहे हैं। इस बाबत कुंज बिहारी तिवारी का कहना है कि पवन जैसे विंध्य के हजारों युवा शोषण के शिकार है। युवाओं का शोषण बंद हो इसके लिये अगस्त क्रांति दिवस 9 अगस्त को आवाज बुलंद की जाएगी। इसके तहत युवा टीम कलेक्ट्र पर धरना देंगे।

नईगढ़ी निवासी कुंजबिहारी तिवारी का कहना है कि इस आंदोलन के जरिए स्थानिय संस्थाओं में यहां के युवाओं को रोजगार देने, संविदा एवं आउट सोर्स कर्मचारियों को स्वास्थ्य और भविष्य की गांरटी तथा सेवा काल में होने वाली मौत पर उसके बच्चों को शिक्षा व परिवार के सदस्य को रोजगार एवं पालन पोषण की जिम्मेदारी की मांग की जाएगी।

उन्होने कहा कि इस आंदोलन के माध्यम से मांग उठाई जाएगी कि जो व्यक्ति काम के दौरान हादसे में अंपग हो जाता है तो उन्हे 25 लाख का मुआवजा और पेशन दिया जाय। इसी के तहत बिजली विभाग में काम करते हुये घायल हुए पवन तिवारी का पूरा खर्च प्रशासन से उठाने तथा उनकी पत्नी को स्थाई रोजगार व दोषियों पर एफआईआर दर्ज करने की भी मांग की जाएगी।

Powered by Blogger.