MP में कॉलेज स्टूडेंट्स को एक और मौका : एक बार फिर ओपन बुक पैटर्न से दे सकेंगे परीक्षा

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

भोपाल/ कोरोना काल के चलते परीक्षा न दे पाने वाले कॉलेज छात्रों को मध्य प्रदेश में परीक्षा देने का एक और मौका दिया जा रहा है। दरअसल, इसी साल जून-जुलाई माह में ओपन बुक प्रणाली से कॉलेजेस की परीक्षा हुई थी, जिसमें किसी कारण वश परीक्षा न दे पाने वाले छात्र एक बार फिर विशेष परीक्षा में शामिल होकर अपना साल बचा सकेंगे। इस बात की घोषणा उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने की। उन्होंने कहा कि, प्रदेश में करीब 18 लाख छात्रों के भविष्य का सवाल है। यही कारण है कि, एक बार फिर उन्हें परीक्षा देने का अवसर दिया जा रहा है।

उज्जैन की सौम्या अग्रवाल अब अमेरिका के न्यूयॉर्क की डेलावेयर यूनिवर्सिटी में देंगी जंप रोप की ट्रेनिंग : हर साल मिलेगी 11 लाख रुपए की स्कॉलरशिप

सिर्फ भोपाल के ही 20 हजार छात्र नहीं दे सके थे परीक्षा

बता दें कि, जिन कॉलेज छात्रों ने जून-जुलाई माह में परीक्षा नहीं दी थी, वो इसी महीने के अंतिम सप्ताह में एक बार फिर परीक्षा दे सकेंगे। सभी कॉलेज और विश्वविद्यालय जल्द प्रक्रिया पूरी करेंगे। छात्र, जो कोरोना की वजह से ओपन बुक परीक्षा में शामिल नहीं हो सके थे, उनके लिए अब विशेष परीक्षा आयोजित की जा रही है। ये परीक्षा इसी महीने होगी और इसका परिणाम भी जल्द घोषित किया जाएगा। आपको ये भी बता दें कि, राजधानी भोपाल में ही यूजी और पीजी के करीब 20 हजार छात्रों ने परीक्षा नहीं दी थी।

रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर : अब बीना-कटनी, भोपाल समेत इन जगहों का ले सकेंगे पास सुविधा का लाभ

ओपन बुक प्रक्रिया पर आधारित होगी परीक्षा

पिछली बार परीक्षा न दे पाने वाले छात्रों को विशेष परीक्षा के माध्यम से दौबारा परीक्षा देने का अवसर दिया जा रहा है। इसमें छात्रों को परीक्षा ओपन बुक प्रणाली से देने का ऑप्शन है। परीक्षा देने के बाद ही छात्र अगली कक्षा व आगे के पाठ्यक्रम में प्रवेश लेने के पात्र हो सकेंगे। हालांकि अभी परीक्षा का कार्यक्रम जारी नहीं किया गया है, लेकिन उच्च शिक्षा विभाग ने सभी को निर्देश दे दिए हैं। उम्मीद है कि, जल्द ही विभाग इस विशेष परीक्षा का कार्यक्रम जारी करेगा।

Powered by Blogger.