MP : भोपाल-इंदौर, रीवा, सागर, शहडोल समेत इन जगहों पर हलकी बारिश व गरज-चमक के साथ पड़ेंगी बौछारें

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

भोपाल-इंदौर समेत 10 जिलों में अगले 24 घंटों के दौरान सिर्फ गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। इसके अलावा बाकी मध्यप्रदेश में कहीं भी ज्यादा बारिश की उम्मीद नहीं है। मौसम वैज्ञानिक जेडी मिश्रा के अनुसार, मंगलवार सुबह तक भोपाल-इंदौर के अलावा रीवा, सागर, शहडोल, जबलपुर, होशंगाबाद, उज्जैन, ग्वालियर और चंबल संभागों के जिलों में कहीं-कहीं बारिश या गरज-चमक हो सकती है। भारी बारिश का कहीं भी अलर्ट नहीं है। यह स्थिति अभी 26 अगस्त तक रहेगी।

प्यार में पागल युवक का कारनामा : सिरफिरे प्रेमी ने एक तरफा प्यार में पागल होकर युवती के घर में घुसकर मारा चाकू, फिर खुद का भी काट लिया गला

दिन और रात का तापमान बढ़ेगा

बारिश नहीं होने से अब दिन और रात का तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की जाएगी। पिछले दो दिन से दिन-रात के तापमान में 2 से लेकर 3 डिग्री तक की बढ़ोतरी हुई है। भोपाल में दिन का तापमान सामान्य से 3 और रात का करीब एक डिग्री अधिक हो गया है। यही स्थिति ग्वालियर में तो दिन का तापमान 35 पर पहुंच गया है। इंदौर में कहीं-कहीं रिमझिम होने के कारण पारा अभी सामान्य के आस-पास ही है।

राज्य प्रशासनिक सेवा और राज्य पुलिस सेवा के 29 अफसरों को मिलेगा प्रमोशन : ये बन सकते हैं IAS, IPS

24 घंटों के दौरान कुछ इलाकों में बारिश

पिछले 24 घंटों के दौरान बड़वानी के चाचरीयापाटी में 2 इंच, सेंधवा में 1 इंच, निवाड़ी में 1 इंच, नीमच के जावद में आधा इंच, होशंगाबाद के पचमढ़ी में पौन इंच, खरगोन के भगवानपुरा में आधा इंच बारिश हुई। इसके अलावा बड़वाह, मुरैना, धार, श्योपुर कलां, झाबुआ, खंडवा, देवास भोपाल, बुरहानपुर, भिंड, गुना, विदिशा, सीहोर, इंदौर, शिवपुरी, छिंदवाड़ा, सिवनी, नरसिंहपुर, रीवा, जबलपुर, डिंडौरी, अनूपपुर, उमरिया, कटनी, बालाघाट, सतना और शहडोल में बारिश हुई है।

जानिए शराब दुकान के बिल की खास बातें : दिन, दुकान, शराब के ब्रांड का नाम, रुपए और मात्रा दर्ज होगी : यहां जानें ग्राहक को क्या होगा फायदा

अभी इस तरह मानसून की गति है

वर्तमान में पूर्वोत्तर राजस्थान और तटीय श्रीलंका क्षेत्रों के ऊपर चक्रवातीय गतिविधियां सक्रिय हैं। मानसून ट्रफ बीकानेर, शिवपुरी, सीधी, पटना और बलूरघाट से होते हुए पूर्व में नागालैंड तक विस्तृत है। हरियाणा और पूर्वी राजस्थान, गुजरात से लेकर पूर्वोत्तर अरब सागर तक ट्रफ लाइन गुजर रही है। पूर्वोत्तर राजस्थान से पश्चिमी मध्य प्रदेश, विदर्भ से होते हुए तेलंगाना तक भी अन्य ट्रफ लाइन गुजर रही है। एमपी से ट्रफ लाइन के गुजरने से प्रदेश में नमी बनी रहेगी। दिन में धूप निकलने से देर शाम और रात तक हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना बनेगी।

Powered by Blogger.