MP : पापा ने ऑनलाइन क्लास के लिए दिया था मोबाइल; छात्र ने फ्री फायर गेम में 20 हजार रुपए हारा फिर महिला टीचर को धमकी देते कहा - 8 लाख नहीं दिए तो घरवाले का मर्डर कर दूंगा

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

मध्यप्रदेश के भिंड में 12वीं के छात्र ने महिला टीचर के घर वालों से 8 लाख रुपए टेरर टैक्स की मांग की है। दरअसल, स्टूडेंट फ्री फायर गेम खेलने के दौरान 20 हजार रुपए हार गया था। उसे नई आईडी बनाकर आगे गेम खेलने के लिए 35 हजार रुपए चाहिए थे। गेम खेलते समय ऑनलाइन बने दोस्तों के कहने पर छात्र ने पहले टीचर के घर धमकी भरा पत्र भेजा। उसमें मोबाइल नंबर देकर संपर्क करने के लिए कहा। जब टीचर ने उस नंबर पर संपर्क किया तो उसने मैसेज भेज कर कहा कि 8 लाख रुपए दे दो नहीं तो परिवार के एक सदस्य को खत्म कर दूंगा। पुलिस ने आरोपी छात्र को पकड़ लिया है।

मामला भिंड के दबोह थाना क्षेत्र का है। टीचर छात्र को 10वीं में पढ़ा चुकी है। पुलिस ने बताया कि कोरोना काल में पढ़ाई खराब न हो, इसलिए छात्र सुरेंद्र कुशवाह (18) को उसके पिता कमलेश कुशवाह ने मोबाइल खरीदकर दिया था। बेटा ऑनलाइन पढ़ाई से ज्यादा फ्री फायर गेम खेलने लगा। फ्री फायर गेम के जरिए जुड़ने वाले दोस्तों की संगत में आकर उसने शिक्षिका के घर टेरर टैक्स वसूली को लेकर धमकी भरा पत्र भेज दिया।

8 अगस्त को फेंका था धमकी भरा पत्र

पुलिस के मुताबिक अमहा निवासी रामेश्वर दयाल दबोह में रहते हैं। 8 अगस्त को वो घर पर थे, तभी किसी ने घर में धमकी भरा पत्र फेंक दिया। रामेश्वर दयाल शर्मा ने पत्र को खोलकर पढ़ा तो उसमें फोन नम्बर 9770918855 लिखा था। पत्र में धमकी दी गई थी कि इस नंबर पर तुरंत संपर्क करो। ऐसा न करने पर तुम अपने परिजन में से किसी को खो दोगे। रामेश्वर ने अपनी टीचर बहू को यह जानकारी दी। इस पर टीचर ने संपर्क किया तो उसके मोबाइल पर धमकी भरे मैसेज आए। 8 लाख रुपए की मांग की गई। ऐसा न करने पर परिवार के किसी सदस्य को जान से मारने धमकी दी गई थी।

इसके बाद 9 अगस्त 2021 को सुबह एक फोन आया और आरोपी बोला कि तत्काल मेरे नंबर पर आठ लाख रुपए डाल दो नहीं तो 12 बजे तक तुम्हारे परिवार के किसी एक सदस्य को जान से मार देंगे। रामेश्वर दयाल शर्मा के परिवार ने मंगलवार को पुलिस से संपर्क किया और पूरे मामले की शिकायत की। इसके बाद दबोह पुलिस सक्रिय हुई और मोबाइल लोकेशन के आधार पर आरोपी को एक घंटे में पकड़ लिया। दबोह थाना प्रभारी प्रमोद साहू का कहना है कि आरोपी से मोबाइल जब्त किया, जिसमें धमकी भरे मैसेज हैं।

पुलिस ने साधारण धाराओं में दर्ज की FIR

गंभीर अपराध करने वाले आरोपी पर पुलिस ने साधारण धाराओं में अपराध दर्ज कर लिया। इसके चलते थाने से जमानत दे दी गई। यह मामला पुलिस के सीनियर अफसरों के संज्ञान में आया, उसके बाद आरोपी के खिलाफ IPC की धारा 507 और साइबर क्राइम से संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

आरोपी को शिक्षिका पढ़ा चुकी है

पूछताछ के दौरान यह बात भी सामने आई है कि टीचर 10वीं की क्लास में सुरेंद्र को पढ़ा चुकी है। अब सुरेंद्र 12वीं का छात्र है। जब सुरेंद्र टीचर के सामने आया तो वो चौंक गए। थाना प्रभारी प्रमोद साहू ने बताया कि आरोपी का पिता मजदूरी करता है। आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

क्या है फ्री फायर गेम

फ्री फायर गेम्स में खेलते वक्त लेवल पार करने और मेंबरशिप लेने के साथ लेवल, स्किन, गन्स, वेपन्स, कॉस्ट्यूम आदि के लिए टॉपअप करवाना पड़ता है। इनमें छोटे टॉपअप का चार्ज 500 रुपए से लेकर 4000 रुपए तक होता है। लेवल बढ़ाने के लिए बच्चे गेम की लत में पड़ जाते हैं।

फ्री फायर गेम ऐसे हो जाता है खर्चीला

ऑनलाइन गेम पबजी, कॉल ऑफ ड्यूटी आदि जैसे ही फ्री फायर गेम भी एक ऑनलाइन बैटल ग्राउंड गेम है। इसे ऑनलाइन सिंगल या ग्रुप में खेल सकते हैं। खेलने वाला एक सैनिक को दूसरे से लड़ाता है। अंत में जो बचता है वह विजेता होता है। गेम निशुल्क भी है लेकिन इसमें खिलाड़ी के सैनिक को कोई सुविधा नहीं मिलती। बच्चे पहले इसे फ्री खेलते हैं। लत लगने पर गेम को अपग्रेड करने करने के लिए बंदूक आदि हथियार खरीदने के लिए कहा जाता है। इसके लिए ऑनलाइन रुपए लिए जाते हैं।

Powered by Blogger.