MP : शिक्षकों के तबादलों में सामने आई बड़ी गड़बड़ी : एक स्कूल में एक पद पर 4 जिलों के 9 शिक्षकों का कर दिया ट्रांसफर... अब विभाग को होल्ड करनी पड़ी ज्वाइनिंग

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा किए गए शिक्षकों के तबादलों में कई तरह की गड़बड़ी सामने आई हैं। हालत यह है शहर के आदमपुर छावनी स्थित स्कूल में प्राइमरी टीचर के एक ही पद पर 4 जिलों के 9 शिक्षकों का तबादला कर दिया गया। अब विभाग के सामने असमंजस यह है कि किसे ज्वाइन कराया जाए, इसलिए विभाग ने ज्वाइनिंग को ही होल्ड पर कर दिया। जिन शिक्षकों का यहां तबादला किया गया, उनके आदेश राज्य स्तर पर जारी हुए हैं। इनमें विदिशा, रायसेन, शाजापुर और गुना जिले के 9 शिक्षक शामिल हैं। गौरतलब है कि स्कूल शिक्षा विभाग ने ट्रांसफर के लिए जिला और राज्य स्तर पर दो पैमाने तय किए थे।

सामने आईं ऐसी-ऐसी गड़बड़ी... किसी के दो तबादला आदेश कर दिए जारी तो किसी को गलत जगह किया पदस्थ

दो जगह पदस्थ बताया- शिक्षक कैलाश प्रसाद के दो तबादला आदेश जारी हुए। इनमें से एक में नरसिंहपुर तो दूसरे आदेश में कटनी पदस्थ होना बताया। जबकि, ट्रांसफर नरसिंहपुर किया गया।

क्लास वन के पद का मामला : दमोह जिले में हाई स्कूल प्रिंसिपल अर्चना जैन का तबादला हायर सेकंडरी स्कूल कर दिया। हायर सेकंडरी स्कूल पद क्लास वन का होता है। हाई स्कूल प्रिंसिपल क्लास 2 का पद है।

जिले से बाहर किया तबादला: जबलपुर डीईओ ने प्राथमिक शिक्षक अब्दुल सलीम का तबादला सतना कर दिया, जबकि डीईओ जिले के अंदर ही ट्रांसफर कर सकते हैं। आदेश में सतना की एक टीचर का तबादला जबलपुर बता दिया।

यहां भी गड़बड़ी: विभाग के निर्देश थे कि सीएम राइज स्कूल में बिना परीक्षा के किसी को पदस्थ नहीं किया जाए, न स्थानांतरण, पर सीएम राइज के तहत चयनित भोपाल के सरदार पटेल स्कूल करोंद में दो शिक्षकों को पदस्थ किया।

पहले से मौजूद शिक्षक लेकिन दूसरे को भेजा

शहर के ग्रीन पार्क मिडिल स्कूल में सामाजिक विज्ञान विषय के शिक्षक पहले से ही हैं, लेकिन इस विषय के दूसरे शिक्षक का यहां ट्रांसफर किया।

यह तकनीकी गलती जल्द सुधार करवाएंगे

यह गलती जानबूझकर नहीं की गई है, बल्कि कंप्यूटर की तकनीकी दिक्कत हो सकती है। ऐसी जो भी गलती हुई हैं, उन्हें युक्तियुक्तकरण करके दूर किया जाएगा। तबादलों में पूरी पारदर्शिता बरती गई है। किसी प्रकार की कोई गड़बड़ी नहीं हुई है। ये तकनीकी दिक्कत से हुआ।

इंदर सिंह परमार, स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री


Powered by Blogger.