REWA : मृत्यु के पूर्व देहदान : विद्याशंकर मुफलिस की डेड बॉडी परिजनों ने इच्छा अनुसार श्याम शाह मेडिकल कालेज को दी दान : अब मेडिकल कॉलेज के छात्र करेंगे पढ़ाई

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा शहर के 77 वर्षीय श्रमिक नेता विद्याशंकर मुफलिस का शुक्रवार की देर शाम निधन हो गया। कैंसर रोग से ग्रसित विद्याशंकर मुफलिस ने अंतिम सांस उपरहटी स्थित आवास में ली। उनकी इच्छा के मुताबिक परिजनों ने पार्थिव शरीर को श्याम शाह मेडिकल कालेज को दान कर दिया है।

अब उनकी पार्थिव देह मेडिकल कॉलेज के छात्रों की पढ़ाई के काम आएगी। निधन के बाद शनिवार सुबह घर से समर्थकों ने रैली के रूप में उनके पार्थिव शरीर को मेडिकल कॉलेज ले गए। जहां लाल सलाम के नारे लगाते हुए देहदान की प्रक्रिया उनके परिजनों ने पूरी की।

परिजनों ने बताया कि विद्याशंकर मुफलिस की शव यात्रा घर से लेकर श्याम शाह मेडिकल कॉलेज तक निकाली गई। समर्थकों ने सबसे पहले पार्थिव देह को फूलों से सजे वाहन में संजय गांधी स्मृति चिकित्सालय तक ले जाया गया।

जहां अस्पताल प्रबंधन ने कोरोना जांच सहित अन्य सरकारी प्रक्रियाएं पूर्ण की। इसके बाद चाहने वालों ने देह को कंधा देकर शव को मेडिकल कॉलेज तक ले गए। यहां अस्पताल प्रशासन को छात्रों की पढ़ाई के लिए श्रमिक नेता विद्याशंकर मुफलिस का संकल्प पूरा करते हुए देह को सौंप दिया गया।

परिजनों के साथ मौजूद रहे समर्थक भी

मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने बताया कि परिजनों के साथ श्रमिक नेता के भारी समर्थक मौजूद रहे है। उनके चाहने वालों में पूर्व विधायक रामलखन शर्मा से लेकर एक सैकड़ा लोग मौजूद रहे है। साथ ही कॉलेज प्रबंधन की ओर से डीन डॉ. मनोज इंदुलकर, एनाटॉमी विभाग प्रमुख डॉ. जीपी खानवलकर, अस्पताल अधीक्षक डॉ. अक्षय श्रीवास्तव, डॉ. अवतार सिंह, सीएमओ डॉ. यत्नेश त्रिपाठी आदि उपस्थित रहे।

Powered by Blogger.