कमल का वार : CM शिवराज उन जगहों का भी भ्रमण करे जहाँ डेंगू व वायरल बुखार के हॉटस्पॉट एवं जहां-जहां भी जहरीली शराब से मौतें हुई हैं

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार से उन विधानसभा क्षेत्रों में जनदर्शन यात्रा शुरू की है, जहां उप चुनाव होने वाले हैं। उनकी इस यात्रा को लेकर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने तंज कसा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को उन क्षेत्रों में भी जाना चाहिए, जहां लोग उनके दर्शन को आतुर हैं। डेंगू व वायरल बुखार के हॉट स्पाॅट बने जिलों में आपका बेसब्री से इंतजार हो रहा है।

शिवराज ने जनआशीर्वाद यात्रा (विधानसभा चुनाव 2018 से पहले ) की तर्ज पर सतना जिले की रैगांव सीट से जनदर्शन यात्रा शुरू की है। कमलनाथ ने सीएम की जनदर्शन यात्रा पर निशाना साधते हुए सोशल मीडिया पर लिखा- मुख्यमंत्री शिवराज आज से चुनावी जनदर्शन यात्रा पर निकले हैं। वे जनदर्शन यात्रा करें, अपने दर्शन जनता को दें, हमें आपत्ति नहीं है, लेकिन उनका जनदर्शन का कार्यक्रम सिर्फ उन क्षेत्रों में हो रहा है, जहां आगामी समय में उपचुनाव होना है। बेहतर होगा, अगर वह जनदर्शन उन क्षेत्रों में भी दें, जहां जनता बड़ी बेसब्री से उनके दर्शनों को आतुर हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रदेश में हुई विभिन्न घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि शिवराज को इन जगहों पर जा कर दर्शन देने चाहिए। प्रदेश में जहां-जहां भी जहरीली शराब से मौतें हुई हैं, वहां उनके दर्शनों की जरूरत है, लेकिन वे वहां जा नहीं रहे हैं। प्रदेश के नेमावर, नीमच व खरगोन में आदिवासियों पर दमन व हत्या की घटना हुई है, वहां पीड़ित परिवार उनके जनदर्शन की उम्मीद के साथ उनका इंतजार कर रहा है।

कमलनाथ ने प्रदेश में बढ़ रहे डेंगू के प्रकोप और लचर स्वास्थ्य व्यवस्था का उल्लेख करते हुए कहा कि प्रदेश के कई जिले डेंगू व वायरल बुखार के हॉटस्पॉट बने हुए हैं, अस्पताल भरे पड़े हैं। एक-एक बेड पर 3-3 बच्चे इलाज करा रहे हैं। स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाल तस्वीरें रोज सामने आ रही हैं। उन अस्पतालों में भी उन्हें जनदर्शन के लिए जाना चाहिए।

कांग्रेस नेता ने कहा कि गंजबासौदा की दुखद घटना पर भी उन्हें जनदर्शन के लिए जाना चाहिए। प्रदेश के कई स्थानों पर मॉब लीचिंग की घटनाएं हुई है। उन्हें वहां भी जनदर्शन के लिए जाना चाहिए, लेकिन उनका जनदर्शन तो सिर्फ उन क्षेत्रों के लिए है। जहां आगामी समय में उपचुनाव होना हैं। वहां वे हमेशा की तरह झूठे नारियल फोड़ेंगे, भूमि पूजन, शिलान्यास, झूठी घोषणाओं के नाम पर जनता को गुमराह करने का काम करेंगे।

बता दें कि मुख्यमंत्री की यह यात्रा रैगांव विधानसभा सीट को कवर कर रही है। जहां उपचुनाव होना हैं। सीएम इस यात्रा में 250 करोड़ की परियाजनाओं का भूमिपूजन व शिलान्यास किया। रैगांव विधानसभा की उन तीन रिक्त सीटों में शामिल है, जो कि विधायकों की काेरोना से मौत के बाद खाली हुई हैं। रैगांव के अलावा जोबट व पृथ्वीपुर भी उपचुनाव होने हैं। यह दोनों सीटें क्रमशः कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया और बृजेंद्र सिंह राठौर के निधन के बाद खाली हुई हैं।

Powered by Blogger.