REWA : रीवा में चौथे दिन जूनियर डाक्टर्स की लगातार हड़ताल जारी : हड़ताल को 800 डॉक्टरों का समर्थन, काले कपड़े व काली पट्टी बांधकर कर रहें इलाज

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

प्रदेश नेतृत्व के आह्वान पर रीवा में चौथे दिन जूडा की हड़ताल जारी रही। एसोसिएशन की मानें तो 150 डॉक्टर काली पट्टी बांधकर 24 घंटे कार्य करते हुए सांकेतिक विरोध कर रहे है। वहीं जूनियर डाक्टर्स की हड़ताल को 800 डॉक्टर का समर्थन है। ऐसे में संजय गांधी अस्पताल और गांधी स्मारक अस्पताल के जूनियर डॉक्टर काले कपड़े व काली पट्टी बांधकर इलाज कर रहे है।

रीवा में फिर चली गोली : पार्टी मनाकर लौट रहे दो भाईयो के साथ मारपीट कर हुई लूट , पुलिस ने बताई फर्जी कहानी

साथ ही आगामी निर्णय तक मरीजों की सेवा जारी रखे हैं, लेकिन सरकार अगर मांगों पर जल्द अमल नहीं करेगी तो सब लोग किसी भी समय हड़ताल में जा सकते हैं। हालांकि पूर्व में की गई प्रदेश व्यापी हड़ताल हाईकोर्ट के निर्देश पर समाप्त हुई थी।

6 मेडिकल कॉलेजों में चल रही हड़ताल

श्यामशाह मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष हृदयेश दीक्षित ने कहा कि अभी सांकेतिक हड़ताल भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर, इंदौर, रीवा और सागर में चल रही है। लेकिन सरकार हठधर्मिता छोड़कर हमारी मांगों को पूरा करें। इसे प्रतिष्ठा का विषय नहीं बनाया जाना चाहिए। पिछले स्टायफंड की मांगों पर अभी तक गौर नहीं किया गया है। उस दौरान हमारी मांग थी कि चिकित्सकों को सुरक्षा दी जाए, एमपी सरकार इंश्योरेंस कराकर पीड़ित परिवार की मदद करें, काम के हिसाब से वेतन दिया जाए, बढ़ी हुई फीस घटाई जाए आदि मांगे थे। लेकिन सरकार ने सिर्फ 10 हजार स्टायफंड में बढ़ावा था।

UP से रीवा लाई जा रही नशीली कफ सिरप की बड़ी खेप समेत दो आरोपी चढ़े पुलिस के हत्थे, एक फरार

तीन डाक्टर्स का रजिस्ट्रेशन निरस्ती का आदेश वापस ले सरकार

रीवा में 7 सितंबर से सांकेतिक हड़ताल करने वाले जूडा ने आरोप लगाया कि सरकार तीन डाक्टर्स का रजिस्ट्रेशन निरस्ती का आदेश वापस ले। हम उसी तरह कार्य पर लौट जाएंगे। लेकिन अगर सरकार दमनकारी नीति अपनाएगी तो आने वाले दिनों में आंदोलन तेज हो सकता है। हालांकि रीवा सहित प्रदेश के अन्य मेडिकल कालेजों के जूनियर डाक्टर्स को दिए गए नोटिस पर सरकार ने कार्रवाई नहीं की है। सिर्फ भोपाल के तीन डाक्टर्स एवं पदाधिकारियों को निशाना बनाया है।

हड़ताल को इनका समर्थन

संजय गांधी अस्पताल एवं गांधी स्मारक हॉस्पिटल के 150 डॉक्टरों का समर्थन।

श्यामशाह मेडिकल कॉलेज के यूजी के 500 छात्र।

श्यामशाह मेडिकल कॉलेज के करीब 150 पीजी के छात्र।

Powered by Blogger.