REWA : रेप के बदले रेप : आरोपी की बहन से पीड़िता के भाईयों ने किया दुष्कृत्य : दो के खिलाफ FIR दर्ज

रीवा जिले में बदले की भावना से गैंगरेप का मामला सामने आया है। बीते दिन सुबह हुए सामूहिक दुष्कर्म की शिकायत लेकर पीड़िता देर रात परिजनों के साथ गढ़ थाने पहुंची। जहां महिला पुलिसकर्मी के समक्ष बयान लेने के बाद मेडिकल चेकअप कराया गया। इसके बाद आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया गया है। पुलिस का दावा है कि जिस नाबालिग बालिका ने दो लोगों पर दुष्कृत्य का आरोप लगाया है। वह आपस में सगे भाई हैं। साथ ही एक आरोपी नाबालिग है। जो घटना के बाद से फरार हैं। आरोपियों की गिरफ्तार के लिए पुलिस दबिश दे रही है। इधर गैंगरेप के संबंध में एएसपी शिवकुमार वर्मा ने पुष्टि की है। कहा है कि चार माह पूर्व दुष्कृत्य की एक घटना के आरोपी की बहन ने पीड़िता के भाईयों पर सामूहिक दुष्कृत्य का मामला दर्ज कराया है। प्रकरण कायम कर जांच की जा रही है।

क्या है पूरा मामला

गढ़ थाना प्रभारी शिवचरण टेकाम ने बताया कि रविवार की सुबह करीब 9 बजे पीड़िता अपने घर में अकेली थी। जबकि माता-पिता मजूदरी करने घर से दूर चले गए थे। इसी बीच सुबह दो भाई घर के अंदर दाखिल हुए। जिन्होंने कमरे की कुंडी अंदर से बंदकर सामूहिक दुष्कर्म किया। इसके बाद दोनों आरोपी घर से फरार हो गए। जब शाम को परिजन घर पहुंचे तो पीड़िता ने आप बीती सुनाई। गैंगरेप की बात सुनकर परिजनों के होश उड़ गए। इसके बाद पीड़िता माता पिता के साथ गढ़ थाने पहुंची। जिसने महिला पुलिसकर्मियों के सामने सामूहिक दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज कराई। इसके बाद गढ़ पुलिस पीड़िता को मेडिकल परीक्षण कराने अस्पताल लेकर गई।

चार माह पूर्व हुआ था दुष्कृत्य

एसडीओपी शैलेन्द्र शर्मा की मानें तो रविवार को पीड़िता के साथ दो सगे भाइयों ने बारी-बारी से दुष्कृत्य किया है। इस घटना का एक चौकाने वाला पहलू यह है कि पीड़िता के भाई ने आरोपियों की बहन से चाह माह पहले दुष्कृत्य किया था। जिसकी रिपोर्ट गढ़ थाने में दर्ज थी। अब उसी घटना में रेप का बदला गैंगरेप से पीड़िता के सगे भाइयों ने आरोपी की बहन से लेने का आरोप है। इसलिए पुलिस सभी बिन्दुओं की सघन जांच कर रही है।

एक आरोपी नाबालिग

पुलिस सूत्रों की मानें तो नाबालिग बालिका द्वारा जिन दो सगे भाइयों पर दुष्कृत्य का आरोप लगाया गया हैं। उनमें से एक आरोपी संभवत: नाबालिग है। वहीं थाना पुलिस आरोपियों की तलाश के लिए कई जगह दबिश दी है, लेकिन उनका कहीं पता नहीं चला हैं। उधर आरोपी पक्ष द्वारा इस घटना को रंजिशन करार देते हुए उच्चस्तरीय जांच की मांग की गई है।

Powered by Blogger.