RESIGNS : एक बार फिर कांग्रेस में छिड़ा घमासान : नवजोत सिंह सिद्धू ने प्रदेश अध्यक्ष पद से दिया इस्तीफा

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

पंजाब कांग्रेस में एक बार फिर बवाल हुआ है. नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा देकर हर किसी को चौंका दिया है. मंगलवार को नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा दिया. 

नवजोत सिंह सिद्धू ने सोनिया गांधी को भेजी अपनी चिट्ठी में कहा है कि किसी भी व्यक्ति के व्यक्तित्व में गिरावट समझौते से शुरू होती है, मैं पंजाब के भविष्य को लेकर कोई समझौता नहीं कर सकता हूं. इसीलिए मैं पंजाब प्रदेश अध्यक्ष के पद से तुरंत इस्तीफा देता हूं.

सिद्धू के इस्तीफे पर कैप्टन का ट्वीट

नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी ट्वीट किया. उन्होंने कहा कि मैंने पहले ही कहा था कि वो एक स्थिर आदमी नहीं हैं, बॉर्डर से जुड़े पंजाब जैसे राज्य के लिए बिल्कुल फिट नहीं हैं. 

कैबिनेट विस्तार को लेकर नाराज थे सिद्धू? 

नवजोत सिंह सिद्धू का इस्तीफा इसलिए भी चौंकाने वाला है, क्योंकि कांग्रेस आलाकमान ने ही उन्हें प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए चुना था. साथ ही उनके साथ ही विवाद के कारण कैप्टन अमरिंदर सिंह को अपना पद छोड़ना पड़ा था.

कैप्टन अमरिंदर सिंह के पद छोड़ने के बाद ही कांग्रेस आलाकमान ने चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री बनाया था. लेकिन हाल ही में जिस तरह पंजाब में कैबिनेट विस्तार हुआ, उससे नवजोत सिंह सिद्धू खुश नहीं थे.

चरणजीत सिंह चन्नी के मुख्यमंत्री बनने के बाद जिस तरह की तस्वीरें आई थीं, उसपर भी काफी विवाद हुआ था. जहां नवजोत सिंह सिद्धू मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का हाथ पकड़े हुए थे, इसपर कांग्रेस के भीतर से ही सवाल खड़े हुए थे.  

पंजाब में नया मुख्यमंत्री बनने के बाद जिस तरह कैबिनेट तैयार हुई, उसमें नवजोत सिंह सिद्धू की नहीं चल पाई थी. यहां केंद्रीय आलाकमान ने पूरी तरह से अपनी रणनीति पर काम किया, माना जा रहा है कि नवजोत सिंह सिद्धू इसी से नाराज़ चल रहे थे. 

पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होना है, उससे पहले कांग्रेस में अमरिंदर बनाम सिद्धू का विवाद चल रहा था. लेकिन पार्टी ने कैप्टन को हटाकर इस विवाद को निपटाने की कोशिश की. लेकिन अब नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे से फिर घमासान छिड़ गया है. 

Powered by Blogger.