REWA : आरोप : नर्स देखती रह गई मोबाइल और हो गई मरीज की मौत, कलेक्टर को मौके पर बुलाने के लिए अड़े रहे परिजन, SDM समझाइश देने पहुंचे अस्पताल

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा शहर के संजय गांधी अस्पताल में भर्ती एक वृद्ध मरीज की मौत पर बीती रात परिजनों का आक्रोश फूट पड़ा। अस्पताल सूत्रों की मानें तो गुस्साए मृतक के परिजन​ मुख्य गेट को अंदर से बंद कर दिया। साथ ही स्ट्रेचर में शव रखकर हंगामा करने लगे। वे चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कलेक्टर इलैयाराजा टी को मौके पर बुलाने की जिद की।

बड़े बवाल की सूचना पर पहुंची अमहिया पुलिस ने जिला प्रशासन के वरि​ष्ठ अधिकारियों को पूरे मामले से अवगत कराया। जानकारी के बाद मौके पर पहुंचे एडीएम शैलेन्द्र सिंह और नायब तहसीलदार यतीश शुक्ला ने समझाइश देकर परिजनों को शांत कराया। तब कहीं जाकर अस्पताल प्रबंधन ने राहत की सांस ली।

हार्ट की समस्या के चलते हुए थे भर्ती

अमहिया थाना प्रभारी शिवा अग्रवाल ने बताया कि मोतीलाल अग्निहोत्री पुत्र मंगलेश्वर अग्निहोत्री (90) निवासी पड़रा थाना सगरा को तीन दिन पूर्व हार्ट की समस्या के चलते परिजन संजय गांधी अस्पताल में दाखिल कराने पहुंचे। तब चिकित्सक वृद्ध को मेडिसिन वार्ड में भर्ती कर उपचार कर रहे थे। तभी मंगलवार की रात करीब 8 बजे के बाद वृद्ध की तबियत बिगड़ने लगी।

चिकित्सकों पर कार्रवाई की मांग

परिजनों का आरोप था कि चिकित्सकों ने सही तरीके से उपचार नहीं किया। ऐसे में उनकी असमय मौत हो गई। वृद्ध की मौत की जानकारी के बाद घर और परिवार के अन्य लोग अस्पताल पहुंचे, जिन्होंने लापरवाह चिकित्सकों पर कार्रवाई की मांग करते हुए हंगामा करने लगे।

एडीएम और नायब तहसीलदार मौके पर पहुंचे

साथ ही परिजन कलेक्टर को मौके पर बुलाने की मांग की। फिर अमहिया पुलिस ने आला अधिकारियों को सूचना दी। अंतत: एडीएम और नायब तहसीलदार मौके पर पहुंचकर जांच कराकर कार्रवाई का आश्वासन दिया है। इधर वार्ड के चिकित्सकों ने लापरवाही के आरोपों को खारिज कर दिया है।

चिकित्सक नहीं आए देखने

परिजनों ने आरोप लगाते हुए बताया कि वृद्ध की तबियत बिगड़ने पर हमने चिकित्सकों से मरीज को देखने की बात कही। लेकिन ​चिकित्सकों ने नर्स से मिलने की बात कही। जब हम नर्स के पास गए तो वह मोबाइल देखने में व्यस्त थी। अब मरीज को न तो चिकित्सकों ने ही देखा और न नर्स ने। इसी तरह आधे घंटे चली लापरवाही में वृत की मौत हो गई।

Powered by Blogger.