MP : 5 युवकों की जेल में हुई दोस्ती : फिर जेल से बाहर निकलकर गैंग बना करने लगे लूट, बदमाशों के पास से पिस्टल कट्टा व चोरी की दो बाइक बरामद

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें


डबरा . अलग-अलग लूट व अन्य मामलों में डबरा उपजेल में बंद पांच युवकों में पहले तो दोस्ती हुई और जेल से बाहर निकलने के बाद पांचों ने अपनी गैंग बना ली। इसके बाद लूट और बाइक चोरी की वारदात करने लगे। शुक्रवार रात को भी लूट की वारदात करने से पहले ही पुलिस ने पांचों शातिर बदमाशों को पकड़ लिया। बदमाशों के पास से पिस्टल, कट्टा और बका सहित चोरी की दो बाइकें भी मिली।

बाद में इनसे चोरी की 11 अन्य बाइकों को भी बरामद कर लिया गया। हालांकि पुलिस द्वारा तीन दिन की रिमांड पर लेकर अन्य लूट की वारदातों के बारे में पूछताछ की जा रही है। दरअसल शहर में पिछले दो महीने से लूट की वारदातों से पुलिस काफी परेशान चल रही थी। लेकिन शुक्रवार को रात के समय देहात पुलिस के हाथ शातिर बदमाश लग गए। ये पांचों बदमाश लूट के इरादे से खेतों में छिपे हुए थे।

पुलिस को देखकर उन्होंने भागने का प्रयास भी किया, लेकिन चारों तरफ से घेरने की वजह से वे कामयाब नहीं हो सके। पकड़े गए बदमाशों ने अपने नाम जितेंद्र शाक्य पुत्र भोगीराम शाक्य निवासी हरनामपुरा थाटीपुर, आसू पुत्र राजवीर गुर्जर निवासी हरदोनी रिठोरा जिला मुरैना, रिंकू पुत्र शिवसिंह निवासी निरपत का पुरा मुरैना, सोनू पुत्र रामरतन किरार निवासी रिठोराकला मुरैना, सुमित पुत्र लालू शाक्य निवासी जालौन बताए हैं।

इनके पास से एक पिस्टल, एक कट्टा, एक बका और चोरी की दो बाइकें बरामद की । बाद में पूछताछ के दौरान इनकी निशानदेही पर चोरी की 11 बाइकों को बरामद कर लिया गया।

मास्टर चाबी से खोलते थे बाइक का लॉक

पांचों बदमाश ग्वालियर, दतिया, शिवपुरी और भिंड में बाइक चोरी करते थे। बाइक चोरी के लिए भीड़भाड़ वाले इलाकों को निशाना बनाते थे। बाइक के लॉक को मास्टर चाबी से खोलते थे। पुलिस ने बदमाशों के पास से दो मास्टर बरामद की है। यह चाबी किसी भी बाइक में लग जाती है। खास बात यह है कि अलग-अलग जिलों से चुराई गई बाइकों को बेचने का काम मुरैना में किया जाता था।

अन्य वारदातों का हो सकता है खुलासा

डबरा व भितरवार अंचल में पिछले दो महीने में लूट की ताबड़तोड़ वारदातें हुई। जिसकी वजह से पुलिस भी परेशानी में आ गई। क्योंकि एक भी लूट की वारदात ट्रेस नहीं हो पाई है। लेकिन इन शातिर बदमाशों के पकड़े जाने से इन लूट की वारदातों का भी खुलासा हो सकता है। इसी के चलते पुलिस द्वारा बदमाशों को न्यायालय में पेश कर तीन दिन की रिमांड पर लिया गया है।

पूरी रैकी करने के बाद चुराते थे बाइक

चारों बदमाशों में से दो बदमाश भितरवार में दंपत्ति के साथ लूट के मामले में डबरा उपजेल में बंद थे। वहीं तीन अन्य बदमाश अन्य मामलों में बंद थे। इसी दौरान चारों के बीच गहरी दोस्ती हो गई। कुछ माह पहले ही जेल से छूटने के बाद सभी आपस में मिले और गैंग बनाकर लूट व बाइक चोरी की वारदातें करना शुरु कर दिया। वारदात से पहले दो बदमाश पहले रैकी कर पूरी जानकारी जुटाते थे इसके बाद पांचों मिलकर वारदात को अंजाम देते थे।

पांच बदमाश पकड़े हैं

पांच बदमाशों को लूट की वारदात करने से पहले हथियारों सहित पकड़ लिया। इनके खिलाफ अलग-अलग थानों में कई अपराध दर्ज हैं। इनसे चोरी की 13 बाइकें बरामद की है। लूट की वारदातों में भी इनका हाथ हो सकता है, तीन दिन की रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है।े। -अमित सांघी, एसपी, ग्वालियर

Powered by Blogger.