देश में 2 से 18 वर्ष तक के बच्चों के लिए कोवैक्सिन के इस्तेमाल को मिली मंजूरी : नवंबर के मध्य तक टीकाकरण अभियान शुरू होने की संभावना

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

नई दिल्ली। देश में बच्चों के लिए कोविड-19 टीकाकरण अभियान नवंबर के मध्य तक शुरू होने की संभावना है। देश के दवा नियामक के तहत विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) ने मंगलवार को 2 से 18 साल के बच्चों के लिए भारत बायोटेक के कोवैक्सिन के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी। इस ड्राइव के तहत पहले पुरानी या गंभीर बीमारियों से पीड़ित बच्चों को टीका लगाया जाएगा और इसके अंतर्गत बीमारियों की प्राथमिकता सूची तैयार होने में तीन सप्ताह तक का वक्त लग सकता है।

मीडिया रिपोट् के मुताबिक ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) द्वारा इस सिफारिश की समीक्षा की जा रही है और एक बार अनुमोदित होने के बाद, रोलआउट की प्रक्रिया अगले महीने शुरू होगी।

एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा, “एक बार जब डीसीजीआई वैक्सीन को मंजूरी दे देता है, तो टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) के सदस्य कंपनी द्वारा अनुमोदन के लिए प्रस्तुत अंतरिम डेटा को संभालेंगे और पढ़ेंगे। वे भारत बायोटेक से अतिरिक्त इनपुट भी मांग सकते हैं, ”

उन्होंने आगे कहा, "प्रभावकारिता और सुरक्षा डेटा के आधार पर, NTAGI बच्चों के बीच टीकाकरण के लिए प्राथमिकता सूची को पूरा करेगा। सूची को अंतिम रूप देने में तीन सप्ताह तक का समय लग सकता है। यह सूची अभियान का सबसे प्रमुख हिस्सा होगी और हमें ठोस योजना बनाने में मदद करेगी।”

NTAGI के एक सदस्य के मुताबिक यह समझने की जरूरत है कि कितनी खुराक भारत बायोटेक तत्काल रोलआउट और अगले तीन महीनों के लिए प्रदान कर सकता है। उन्होंने कहा, "वयस्कों और बच्चों के लिए कोवैक्सिन के आवंटन के लिए सही संतुलन बनाने के बाद, नवंबर के मध्य या तीसरे सप्ताह तक बच्चों के टीकाकरण शुरू होने की संभावना है।" उन्होंने कहा कि उनकी चिंता टीकाकरण की गति को लेकर है और बच्चों की टीकाकरण प्रक्रिया में वयस्कों के वैक्सीनेशन से कहीं भी "समझौता" नहीं होना चाहिए।

12 साल से अधिक उम्र के बच्चों के लिए Zydus Healthcare के ZyCoV-D के बाद Covaxin भारत में बच्चों के बीच आपातकालीन उपयोग के लिए स्वीकृत होने वाली दूसरी कोविड -19 वैक्सीन है। हालांकि, Covaxin 2-18 आयु वर्ग के बच्चों के लिए दुनिया भर में स्वीकृत होने वाले पहले टीके में से एक है।

कंपनी हर 15 दिनों के बाद डेटा जमा करेगी

दो-खुराक वाली कोवैक्सिन बच्चों को दी जाएगी और इसमें पहले और दूसरे डोज के बीच 28 दिनों का अंतराल रखा जाएगा। बच्चों के लिए टीके की खुराक वयस्कों के समान 0.5 मिली होगी।

एसईसी पैनल ने कंपनी को अनुमोदित प्रोटोकॉल के अनुसार अध्ययन जारी रखने की सिफारिश की है। पैनल ने कंपनी को सुरक्षा डेटा जमा करने के लिए भी कहा है, जिसमें प्रतिकूल घटनाओं या दुष्प्रभावों पर पहले दो महीनों के लिए हर पखवाड़े और उसके बाद मासिक डेटा भी शामिल है।

भारत बायोटेक ने मंगलवार को कहा कि उसने केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) को 2-18 साल के आयु वर्ग में कोवैक्सिन के लिए क्लीनिकल परीक्षण के आंकड़े सौंपे हैं। कंपनी ने कहा, "यह 2-18 आयु वर्ग के लिए कोविड-19 टीकों के लिए दुनिया भर में पहली मंजूरी में से एक का प्रतिनिधित्व करता है। अब हम उत्पाद लॉन्च और COVAXIN की बाजार में उपलब्धता से पहले सीडीएससीओ से विनियामक अनुमोदन का इंतजार कर रहे हैं।"

Powered by Blogger.