REWA : विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम का अजीब बयान : कहा, जब मित्रता करता हूं, तो उससे दिल से करता हूं...CS आकर खड़ा रहता है पर मैं नहीं मिलता



मध्यप्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने सरकार के मुख्य सचिव को लेकर अजीब बयान दिया है। गिरीश गौतम ने एक सभा के दौरा कहा कि एक आदेश जाता है तो CS आकर खड़ा रहता है। 4 से 5 घंटे बैठा रहता है, पर मैं नहीं मिलता हूं। गौतम एक कार्यक्रम के दौरान अपने क्षेत्र में ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि जब मित्रता करता हूं, तो उससे दिल से करता हूं। मैं कृष्ण और सुदामा को आदर्श मानता हूं। मैं भी राम की तरह सत्ता से कोई मोह नहीं करता। मेरा जो पद है, उसको मैं अभिमान में नहीं लाना चाहता। मैं विधानसभा अध्यक्ष नहीं बल्कि गिरीश गौतम ही रहना चाहता हूं।

बता दें कि 24 अक्टूबर से गिरीश गौतम देवतालाब विधानसभा क्षेत्र की साइकिल यात्रा निकल रही है। साइकिल यात्रा का शुभारंभ भाजपा प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने किया था। जिसका समापन 31 अक्टूबर को सीएम शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में होगा।

टोल मैनेजर को धमकी देकर बेटा रहा है सुर्खियों में

साइकिल यात्रा से एक दिन पहले यानी 23 अक्टूबर को उनके बेटे और भाजपा जिला उपाध्यक्ष राहुल गौतम का ऑडियो सामने आया था। राहुल टोल प्लाजा मैनेजर को अपशब्द कहते हुए धमका रहा था। टोल मैनेजर ने राहुल के घर पहुंचकर माफी भी मांग ली थी। इसे लोग राजनीति से जोड़कर भी देख रहे हैं। हालांकि बाद में राहुल ने कहा कि मां ने इसके बारे में बताया, तो वह गुस्से में आ गए। इसके लिए माफी मांगता हूं।

2018 के चुनाव परिणाम को लेकर मन में कसक

शुक्रवार को विस अध्यक्ष गिरीश गौतम की देवतालाब क्षेत्र के शिवराजपुर ग्राम में सभा थी। वे सभा स्थल में 2018 के विधानसभा चुनाव परिणाम की बातों पर गौर करने लगे। उन्होंने कहा कि विस अध्यक्ष बनने के बाद एक मन में कसक है। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने एक भोज के दौरान कहा था कि गौतमजी आप क्षेत्र में विकास कार्य कर रहे। सबसे ज्यादा बजट भी आपको मिला, लेकिन 2018 के नतीजों में जीत का अंतर महज 10 से 12 हजार है। उन्होने कहा कि आप लोग हमें विकास पुरुष मत बनाएं, न हमको दादा बनना है और न शेर। हमें सिर्फ विंध्य का सेवक बना दो।

Powered by Blogger.