REWA : सड़क पर उतरे CJM : बदहाल यातायात व्यवस्था को सुधारने लगाई अदालत, 16 दो पहिया और 60 ऑटो वाहन पर की कार्यवाही, 88 हजार से ज्यादा की चालान शुल्क जमा करवाई

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा शहर की बदहाल यातायात व्यवस्था को देख आखिरकार सीजेएम को सड़क में अदालत लगानी पड़ी। सूत्रों की मानें तो बुधवार की सुबह 11 बजे से दोपहर 2 बजे तक धोबिया टंकी चौराहे में और दोपहर 3 बजे से शाम 5 बजे तक सिरमौर चौराहे में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की कोर्ट लगी। जहां दो पहिया वाहनों और ऑटो चालकों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई की गई।


जहां 16 दो पहिया और 60 ऑटो वाहनों पर चालानी कार्रवाई करते हुए 88 हजार से ज्यादा की चालान शुल्क जमा करवाई है। इस दौरान करीब 200 ऑटो व 50 दो पहिया वाहनों को खड़े कराकर रिकार्ड चेक किए गए, जिनके पास संबंधित दस्तावेज नहीं मिले। उन पर चालानी कार्रवाई की गई है।

बता दें कि मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट आशीष ताम्रकार और न्यायिक मजिस्ट्रेट महेन्द्र उईके द्वारा बुधवार को चलित न्यायालय के तहत धोबिया टंकी चौराहे और सिरमौर चौराहे पर चेकिंग अभियान चलाया। चलित न्यायालय के दौरान अस्थाई बैरिकेडिंग कर करीब 50 दो पहिया वाहनों को खड़ा कराते हुए हेलमेट, तीन सवारी वाली बाइक व आरसी कार्ट, बीमा व ड्राइविंग लाइसेंस चेक किया गया। अधूरे रिकार्ड वाले 16 बाइक चालकों से चालान शुल्क जमा कराई गई। इसी तरह 200 ऑटो चालकों को खड़ा कराते हुए वर्दी, बीमा व फिटनेस चेक किया गया। इस दौरान नियमों की अनदेखी करने वाले 60 ऑटो चालकों से 88450 रुपए की चालान शुक्ल जमा कराई गई।

दो न्यायाधिपतियों के रीवा शहर की मुख्य सड़कों पर उतरने से जहां जिला प्रशासन के जिम्मेदार कुछ भी बोलने से कतराते रहे। वहीं नियमों की अनदेखी करने वाले वाहन चालक मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट का लाव लश्कर देखने के बाद दोबारा गलती न करने की कसम खाई।

Powered by Blogger.