MP : छतरपुर की युवती ने भोपाल के बॉयफ्रेंड संग रची साजिश फिर पति से तलाक के बाद 21 लाख रुपए और सोने के गहने हड़पे

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें


जबलपुर में बंटी-बबली की तर्ज पर ठगी का मामला सामने आया है। छतरपुर की युवती ने भोपाल के रहने वाले बॉयफ्रेंड संग मिलकर महिला से 21 लाख रुपए और सोने के गहने हड़प लिए। पीड़िता जबलपुर की रहने वाली है। महिला को ये रुपए तलाक के बाद पति से मिले थे। शिकायत के बाद जबलपुर की गोराबाजार पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी, चोरी सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया है।

गोराबाजार पुलिस के मुताबिक डी-13 समदड़िया कॉम्प्लेक्स साउथ सिविल लाइंस निवासी फरहा नाज अली वर्तमान में विनय कपूर के मकान सेंट थाॅमस स्कूल के पीछे अकेली गोराबाजार में रहती है। उसके पिता सिविल लाइंस में रहते हैं। छोटा भाई नीशू स्वीडन में पढ़ाई कर रहा है। फरहा ने बीकॉम तक पढ़ी है। वर्तमान में फरहा बच्चों को होम ट्यूटन देकर गुजारा कर रही है।

2018 में शादी, 3 साल बाद तलाक

फरहा की शादी 12 जनवरी 2018 को पश्चिम बंगाल आसनसोल में यासर सुभानी के साथ हुई थी। पारिवारिक विवाद के चलते 3 सितंबर 2021 को तलाक हो गया। छतरपुर के बिजावर की रहने वाली पूजा सोनी उसकी सहेली है। दो साल पहले दाेनों अनमोल अपार्टमेंट में रूम पार्टनर भी थीं। दिसंबर 2020 में उसने कमरा बदला और विनय कपूर के यहां किराए से रहने लगी।

जनवरी 2021 में पूजा भी उसके साथ रहने लगी

जनवरी में पूजा सोनी एक बार फिर उसके साथ आकर रहने लगी। फरहा ने पूजा को बताया कि तलाक के बाद उसे 21 लाख रुपए मिलने वाले हैं। ये बात भी पूजा सोनी और उसके बॉयफ्रेंड यश सलूजा को मालूम थी। पूजा ने फरहा को झांसे में लेकर यश के खाते में 5 लाख रुपए ट्रांसफर कराए। बोली थी-एक माह में वापस कर देगा, लेकिन आज तक नहीं लौटाया। आरोपी अक्सर उससे खाते का पासवर्ड मांगते थे। साथ रहने के दौरान ही पूजा सोनी ने चोरी से उसके बैंक पासबुक, डेविड कार्ड की डिटेल ले लिए थे।

भोजन में नशीला पदार्थ खिलाकर बेहोश कर दिया, बैंकिग ट्रांजेक्शन वाला सिम चुरा लिया

पूजा ने यश को 3 लाख रुपए देने के लिए कहा। इस बार उसने मना कर दिया। इसके बाद वह यश का मोबाइल 80 हजार रुपए में खरीदने का दबाव बनाने लगी। उसने मना कर दिया। यश भी कुछ समय से आकर वहीं रहने लगा था। दोनों कहीं नहीं जाते थे। 22 सितंबर की रात पूजा व यश ने भोजन में नशीला पदार्थ मिलाकर खिला दिया। 23 की सुबह 10 बजे उसकी नींद खुली, तो दोनों लापता थे। फोन से बैंक से जुड़ी बैंकिंग ट्रांजेक्शन वाली सिम गायब थी।

आरोपियों ने 16 लाख रुपए खाते से ट्रांसफर कर लिए

उसने पूजा व यश को फोन पर इसके बारे में बताया भी। इसके बाद सिम कंपनी से दूसरी सिम निकलवाई। चालू होते ही यश का कॉल आया, लेकिन वह पूजा को लेकर ही बात करता रहा। 24 सितंबर को पता चला कि उसके खाते से 16 लाख रुपए और आलमारी से तीन तोले का चेन व बाले और मोबाइल भी गायब है। बैंक से पता चला कि 7 लाख यश सलूजा के खाते में और शेष रकम दूसरे खातों में ट्रांसफर हुए हैं। उसने पूजा को इसके बारे में बताया और शिकायत की धमकी दी तो वह यश से पैसे दिलवाने का झांसा देती रही।

फर्जी RTGS का मैसेज तक भेज दिया

पूजा और यश ने झूठी RTGS की 21 लाख रुपए की फर्जी रशीद की फोटो तक उसे सोशल मैसेज पर भेज दी। बैंक से पता चला कि उनके खाते में कोई पैसा नहीं आया है और आरटीजीएस का नंबर और सील फर्जी थी। दोनों आरोपी उसे 30 सितंबर तक पैसे वापस करने का आश्वासन ही देते रहे। इसके बाद वह थाने पहुंची। पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी, फर्जीवाड़ा, चोरी सहित अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज कर लिया है।

Powered by Blogger.