MP : सरकारी स्कूल की छात्रा से बलात्कार का मामला : आरोपी प्रधानाध्यापक समेत दो अध्यापिका गिरफ्तार, स्कूल के सभी शिक्षक निलम्बित : पीड़िता के यहां पहुंचे कलेक्टर,SP

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

जयपुर। झुंझुनूं जिले के ग्रामीण क्षेत्र के एक सरकारी स्कूल में सातवीं कक्षा की 11 वर्षीय छात्रा से बलात्कार के आरोपी प्रधानाध्यापक को दो दिन के रिमांड पर लिया गया है। वहीं प्रधानाध्यापक का साथ देने तथा साक्ष्य मिटाने के आरोप में दोनों अध्यापिकाओं को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। जांच अधिकारी ने बताया कि गिरफ्तार प्रधानाध्यापक को शनिवार को न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे रिमाण्ड पर लिया गया है। उससे पूछताछ की जा रही है। तकनीकी एक्सपर्ट से डिलीट किए चेट भी वापस मंगवाने के प्रयास किए जा रहे हैं। इधर मामले की गंभीरता को देखते हुए जिला कलक्टर यूडी खान व एसपी मनीष त्रिपाठी ने पीडि़ता के गांव पहुंचकर आश्वासन दिया। दोनों ने कहा कि पीडि़ता छात्रा व परिवार की हरसम्भव मदद की जाएगी। आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। कलक्टर व एसपी ने सरकारी स्कूल का भी जायजा लिया। जिला कलक्टर ने झुंझुनूं डीईओ प्रारम्भिक मनोज कुमार ढाका को हर स्कूल में काउंसलिग करवाने के निर्देश जारी किए।

डीईओ भी पहुंचे

झुंझुनूं डीईओ प्रारम्भिक मनोज कुमार ढाका ने शनिवार को स्कूल का जायजा लिया तथा मामले को गंभीरता से लेते हुए मामले में नाम आने पर सभी पांचों शिक्षकों को निलंबित कर दिया। घटना के दौरान छुट्टी पर चल रही एक अध्यापिका को ही स्कूल में ही रखा गया है। स्कूल में नया स्टाफ लगाया गया है। जिसमें एक शिक्षक व एक अध्यापिका को मंडाणा तन खेतड़ी से लगाया गया है। डेपूटेशन पर चल रहे एक अन्य शिक्षक को वहां लगाया गया है।

आरोपी की दिसम्बर में हुई थी शादी

बलात्कार के आरोपी अलवर जिले के निवासी प्रधानाध्यापक की शादी दिसम्बर 2020 में हुई थी। आरोपी सात दिसम्बर 2020 से इसी स्कूल मेे प्रधानाध्यापक था। आरोपी प्रधानाध्यापक की पत्नी भी दूसरे सरकारी स्कूल में शिक्षक है।

1098 पर करें शिकायत

बाल अधिकारिता विभाग की सहायक निदेशक प्रिया चौधरी ने बताया कि बच्चों के साथ किसी भी प्रकार का अपराध होने पर वे 1098 पर फोन कर अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं। जांच के बाद हर संभव मदद की जाएगी।

शिक्षा विभाग ने बनाई कमेटी

प्रकरण की पूरी जांच करने के लिए तीन अधिकारियों की एक कमेटी गठित की है। इसमें राउमावि निहालोठ के प्रधानाचार्य राजेश श्रीवास्तव के नेतृत्व में राउमावि सोलाना की प्रधानाध्यापिका अंजना कुमारी व तोलासेही के प्रधानाध्यापक सुशील कुमार शर्मा को भी शामिल किया गया है। जांच कमेटी को 3 दिन में रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए गए हैं।

इनका कहना है

लम्बे समय से छुट्टी पर चल रही एक अध्यापिका को छोड़कर स्कूल के सभी शिक्षकों को निलम्बित कर दिया गया है। हर स्कूल में काउंसलिंग की जाएगी। दीवारों पर चाइल्ड हैल्प लाइन नम्बर लिखवाए जाएंगे। जल्द से जल्द सरकारी सहायता राशि दिलाई जाएगी।

यूडी खान, कलक्टर

इनका कहना है...

मामले में प्रधानाध्यापक व दो महिला शिक्षकों को गिरफ्तार किया जा चुका है। मामले में सही अनुसंधान होगा और केस ऑफिसर स्कीम में लेने के लिए ऑर्डर निकालेंगे।

-मनीष त्रिपाठी, एसपी झुंझुनूं

Powered by Blogger.