इस व्रत में प्यास पर कंट्रोल रखना मुश्किल : इन 8 तरकीबों से करवा चौथ पर कंट्रोल रख सकते हैं प्यास

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

करवा चौथ का व्रत सुहागिनों के लिए बेहद प्रमुख व्रत माना जाता है. इस दिन महिलाएं पति की लंबी उम्र के लिए निर्जला व्रत रखती हैं और चांद देखने के बाद ही व्रत खोलती हैं. लेकिन इस व्रत में महिलाओं के लिए प्यास पर कंट्रोल रखना बड़ा मुश्किल हो जाता है. शरीर डीहाड्रेट होने की वजह से दिक्कतें भी बढ़ सकती हैं. आइए आपको प्यास कंट्रोल रखने के कुछ बेहतरीन टिप्स बताते हैं.

दूसरे कामों में मन लगाएं- आप खुद को पूरा दिन व्यस्त रखने की कोशिश करें. अगर कामकाजी महिला हैं तो ऑफिस जाएं और नियमित काम करें या फिर घर पर फिल्म देखकर या किसी अन्य हल्के-फुल्के कामों में अपना मन लगाए रखें. अपने दोस्तों या घर वालों के साथ बातचीत करें जिससे आपका ध्यान बार-बार खाने या पानी पीने की तरफ नहीं जाएगा. आप अगर खाली रहेंगी तो आपके दिमाग में बार-बार खाने-पीने का ख्याल आता रहेगा.

बॉडी टेंपरेचर को मेंटेन रखें- शरीर का तापमान नियंत्रित रखने से भी आपको कम प्यास लगेगी. सबसे पहले तो आपको गर्मी और धूप से बचकर रहना चाहिए. घर या ऑफिस में एसी में रहने की कोशिश करें. ओवरहीटिंग से आपके शरीर के भीतर चेन रिएक्शन शुरू हो जाती है जिससे आपकी इंटरनल एसी यूनिट आपको ठंडा रखने के लिए काम करना शुरू कर देती है और आपको पसीना आने लगता है. शरीर के अंदर का पानी निकलने से आप प्यासा महसूस करने लगते हैं. सुबह 10 बजे से शाम 3 बजे तक सूरज सबसे ज्यादा परेशान करता है इसलिए इस अवधि में बाहर जाने से बचें. अगर धूप से बचना संभव नहीं है तो धूप में रहने के टाइम में कमी लाने की कोशिश जरूर करें. 

पानी से खुद को रखें कूल- अगर आपको बहुत गर्मी लग रही है तो आप ठंडे पानी में नहा सकती हैं. पानी का तापमान शरीर के तापमान से कम होना चाहिए. इसके अलावा आप टॉवेल में आइसक्यूब लपेटकर दो मिनट के लिए गले और कलाई के पास रखें. ये दो पल्स पल्स पॉइंट है जहां आप आसानी से पहुंच सकते हैं. यह काम करता है क्योंकि पल्स पॉइंट ही ऐसी जगहें हैं जहां रक्त नलिकाएं त्वचा की सतह के करीब होती हैं. इसी वजह से पूरे शरीर में ठंडेपन का एहसास होता है.

नाक से सांस लें- जब आप मुंह से सांस लेते हैं तो हवा आपके मुंह से गुजरती है और आपका मुंह सूख जाता है. जब आपका मुंह सूखने लगता है तो आपको प्यास लग जाती है. आप इस बात पर ध्यान दीजिए कि आप नाक से सांस ले रहे हैं या फिर मुंह से, यह एक ऐसी चीज है जिस पर अधिकतर लोग गौर नहीं करते हैं. अगर आप ऐसा करेंगी तो आपको प्यास से छुटकारा पाने में काफी मदद मिलेगी.

ह्यूमिडिफायर- कमरे में ह्यूमिडिफायर का इस्तेमाल करें. अधिकतर लोग सुबह उठते ही पानी की तरफ हाथ बढ़ाते हैं. लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि ऐसा क्यों होता है? चूंकि हम सोते हैं तो नाक के बजाए मुंह से ही सांस लेते हैं. घंटों ऐसा करने के बाद हमारा मुंह बिल्कुल सूख जाता है. ह्यूमिडिफायर हवा का माइश्चर करता है, इसके इस्तेमाल से आपका मुंह सूखना बंद हो जाएगा.

ऐसा कपड़े पहनें- अपने पहनावे पर भी ध्यान दें. गर्मी से बचने के लिए हल्के, बिना लेयर वाले, हल्के रंग के कपड़े पहनें. कॉटन के कपड़े भी गर्मी से बचने में मदद करते हैं. ज्यादा फिटिंग वाले कपड़ों से दूर रहें.

तेज आवाज में बात ना करें- करवाचौथ के दिन बहुत चिल्लाकर बात ना करें और किसी भी तरह की एक्सरसाइज या ज्यादा ऊर्जा खपत वाले काम बिल्कुल ना करें. नहीं तो आपको ज्यादा प्यास लगेगी. 

चंद्रोदय के बाद चाय या कॉफी ना पिएं- चंद्रमा के उदय के तुरंत बाद चाय या कॉफी पीने ले बचें. आप पूरा दिन खाली पेट रहती हैं जिससे आपके शरीर में एसिडिटी हो सकती है. डिहाइड्रेशन और कमजोरी से बचने के लिए पर्याप्त मात्रआ में पानी पी सकते हैं. नींबू पानी पीना भी एक अच्छा विकल्प है. दही खाने से भी जरूरी पोषक तत्वों की पूर्ति हो जाएगी. ऑयली खाने से बचें. इससे आपको उल्टियां या गैस की समस्या हो सकती है.

Powered by Blogger.