MP : चोरों की गैंग का पर्दाफाश : नाबालिक लड़कियों की सह से करवाते थे चोरी फिर कम दामों में बेंच देते थे, सरगना समेत 5 सदस्य गिरफ्तार : 6 बाइक, एक पिस्टल और 4 जिंदा कारतूस बरामद

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

इंदौर में पुलिस ने चोरों की गैंग का पर्दाफाश किया है। गैंग का सरगना चोरी करवाने के लिए नाबालिग लड़कियों का उपयोग करता था। यही नहीं, वह लड़कों की मदद से बाइक चोरी करवाता था। इसके बाद इन्हें बाजार में सस्ते दामों में बेच देता था। पुलिस ने मामले में मुख्य सरगना समेत 5 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। आरोपी डकैती डालने की फिराक में थे। आरोपियों के पास से 6 बाइक, एक पिस्टल और 4 जिंदा कारतूस मिले हैं।

थाना प्रभारी तहजीब काजी के अनुसार इलाके में 2 माह पूर्व कुछ पीड़ितों ने यह शिकायत दर्ज कराई थी कि उनके घर पर किराए का कमरा देखने आई किशोरियों द्वारा घर में चोरी की वारदात को अंजाम दिया गया। पीड़ित बुजुर्ग दंपती थे, इस कारण से नाबालिग चोरों ने बुजुर्ग दंपती को बातों में उलझा रखा। एक अन्य युवती ने घर में हाथ साफ कर फरार हो गई। इसके बाद दोनों किशोरियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर बाल संप्रेक्षण गृह भेज दिया गया था। पूछताछ में गैंग के 5 अन्य साथियों को नाम सामने आने के बाद शनिवार देर रात पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

चोरी के बाद मात्र 2 से 3 हजार में बेच देते थे बाइक

आरोपी इतने शातिर थे कि वह बाइक को चोरी कर तुरंत उसे बाजार में किसी भी व्यक्ति को महज दो से 3 हजार में बेच दिया करते थे। उससे नशा खरीद लेते थे। गैंग के अन्य सदस्य भी नशे के इतने अधिक आदी थे कि उन्हें रोजाना ब्राउन शुगर व अन्य नशों के लिए रुपयों की जरूरत होती थी। आरोपी इसके लिए चोरी की वारदात को अंजाम दिया करते थे।

युवतियां भी थी नशे के शिकार

2 माह पूर्व नाबालिग को पुलिस ने हिरासत में लिया था, जहां पूछताछ में इन्होंने युवकों के नाम का खुलासा किया था। यह बोला था कि वह भी नशे के लिए इन चोरियों की वारदात को अंजाम दिया करती थी वही गैंग का मुख्य सरगना सभी को नशे का सामान उपलब्ध कराता था।

पहले दिन बाइक चोरी, दूसरे दिन FIR और तीसरे दिन आरोपी गिरफ्तार

नाबालिग युवतियों की निशानदेही पर पुलिस गैंग के अन्य साथियों की तलाश कर रही थी। 30 सितंबर को फरियादी द्वारा विजयनगर इलाके से अपने बाइक चोरी की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई गई। जिस पर पुलिस ने तुरंत FIR करने के बाद 48 घंटे के अंदर चोरों को गिरफ्तार किया है। वहीं, थाने पर आए पीड़ितों ने बताया कि इतनी जल्दी कार्रवाई पुलिस की हमने आज तक नहीं देखी है। वहीं, फरियादियों ने पुलिस की कार्यप्रणाली की प्रशंसा भी की।

इलाके में आसानी से नहीं मिला रहा है नशा, इसलिए बनाई डकैती की योजना

शनिवार देर रात विजयनगर पुलिस ने 5 आरोपी दीपक पुत्र संतोष , राहुल पुत्र कालूराम, तीरू उर्फ शंकर कैलाश, जेक गिल्बर्ट , सुमीत पांचोली को गिरफ्तार किया है। इलाके में नशा आसानी से नहीं मिलने के कारण उन्होंने शनिवार देर रात डकैती की योजना बनाई थी। जिसके लिए आरोपियों ने पिस्टल व धारदार हथियार का इंतजाम कर रखा था। विजयनगर पुलिस को मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई और उन्होंने इलाके के भूसा मंडी क्षेत्र से पांचों आरोपियों को हथियारों के सहित गिरफ्तार किया है।

मुख्य सरगना तीरू ने पाल रहे है हाई ब्रिड DOG

गैंग का मुख्य सरगना तिरु खजराना इलाका क्षेत्र में रहता है और वह घर में पुलिस से बचने के लिए तीन हाइब्रिड कुत्तों को पाल रखे थे। यदि पुलिस पूछताछ सर्चिंग के लिए घर जाती तो परिवार के सदस्य कुत्तों को खुला छोड़ कर आरोपी को हमेशा बचाते थे।

Powered by Blogger.