MP : मां ने बेटी को मारने यूट्यूब पर ढूंढा तरीका : मकान की तीसरी मंजिल पर पानी की टंकी में तैरता मिला बच्ची का शव, पानी में डूबने से कितनी देर में होती है सर्च किया था

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

उज्जैन में एक मां ने अपनी 3 महीने की बेटी की हत्या कर दी। मां ने बेटी को मारने के लिए यूट्यूब पर तरीका ढूंढा था। घटना 12 अक्टूबर की है। खाचरौद में बच्ची का शव मकान की तीसरी मंजिल पर पानी की टंकी में तैरता मिला था। आरोपी मां स्वाति भटेवरा ने यूट्यूब पर सर्च किया था कि पानी में डूबने से मौत कितनी देर में होती है, किस ओर मुंह रखा जाए। इसी आधार पर उसे अरेस्ट किया गया है। शनिवार को उसे कोर्ट में पेश कर रिमांड मांगा जाएगा।

12 अक्टूबर को पुलिस थाने के सामने रहने वाले भटेवरा परिवार के मकान से 3 माह की बेटी वीरति भटेवरा गायब हो गई थी। कुछ समय बाद उसका शव तीसरी मंजिल स्थित पानी की टंकी में उतराता मिला था। पुलिस ने मामले का खुलासा कर 3 माह की बेटी के हत्या के आरोप में मां स्वाति भटेवरा को गिरफ्तार किया है। हालांकि, स्वाति का दावा है कि उसने बेटी की हत्या नहीं की है।

पुलिस ने स्वाति के मोबाइल की जांच की थी, जिसमें यह जानकारी सामने आई कि उसकी बेटी वीरति का जन्म 6 जुलाई को हुआ था। इसके बाद स्वाति ने 26 जुलाई को हत्या करने के तरीके यू-ट्यूब पर सर्च किए। हत्या के दो दिन पहले यानी 10 अक्टूबर को उसके यू-ट्यूब पर पानी में डूबने से मौत होने के बारे में सर्च किया था। इसके दो दिन बाद 12 अक्टूबर को वीरति का शव पानी की टंकी में मिला।

परिवार को भी शुरुआत से मां पर शक

घटना के दिन दोपहर 1.20 बजे बच्ची के दादा सुभाष भटेवरा ने वीरति को देखा था। इसके बाद वह दुकान चले गए। दोपहर 1.44 बजे उनके बेटे ने फोन लगाकर विरति के गुम होने की जानकारी दी। इस बीच 1.25 बजे दादी अनीता ने भी वीरति को देखा। मात्र 20 मिनट में बच्ची का घर से गायब होना संभव नहीं था, क्योंकि घर के नीचे ही वीरति के पिता अर्पित की दुकान है।

घटना के समय अर्पित भी दुकान पर ही था। इस दौरान न ही कोई ऊपर आया और न ही गया। एकमात्र वीरति की मां ही थी, जो छत पर गई थी। परिवार भी शुरुआत से बच्ची की मां पर ही शक जाता रहा था। स्वाति और अर्पित की शादी 2019 में हुई थी।

Powered by Blogger.